Video: फिरौती के लिए 11वीं के छात्र ने बनाया प्लान, बच्ची का कत्ल कर कूलर में छिपाया शव

Thursday, December 07, 2017 12:23 PM

अंबाला(कमलप्रीत सभ्रवाल): घर और दुकान के बीच मात्र 40 मीटर की दूरी से गायब हुई 5 साल की बच्ची वेश्वनी सूद से पूरे गांव में सनसनी फैल गई। देर रात्रि बच्ची के गायब होने की घटना को अभी परिवार समझ पाता कि पड़ोस के दुकानदार पर एक फोन आया कि बच्ची के पिता से बात करवाओ। पिता से बात हुई और 20 लाख की फिरौती मांगी गई। मामले की सूचना तुरंत महेश नगर थाना पुलिस को दी गई।  परिवार से मिली सूचना के बाद पुलिस अलर्ट तो हुई लेकिन बच्ची को नहीं बचा पाई। क्योंकि इससे पहले ही किडनैपर बच्ची को पानी में डुबो कर मार चुका था और उसने पुलिस को गुमराह करने के लिए शव को कूलर में छिपा दिया था।
PunjabKesari
दुकान पर चाचा को देने गई थी चाय 
गत शाम गांव बोह में रहने वाली वैष्णवी सिसिल कॉन्वेंट स्कूल में यूकेजी की स्टूडेंट थी। वह अपने चाचा विनय सूद को चाय देने गई थी। इसके बाद वह खेलने चली गई। खेलते-खेलते किसी ने उसका किडनैप कर लिया। परिवार को इसकी कानों कान भनक तक नहीं लगी। जब शाम करीब 6 बजे तक बच्ची घर नहीं लौटी तो परिवार ने इधर-उधर तलाश शुरू की लेकिन कोई सफलता परिवार के हाथ न लगी।
PunjabKesari
बच्ची को छोड़ने की एवज में मांगे 20 लाख रुपए
हालांकि इस बीच वैष्णवी के पिता अमित सूद ने पुलिस को सूचित भी किया। फिर भी उसकी कोई जानकारी नहीं हुई। शाम 7 बजे अमित के पड़ोसी के पास एक अनजान नंबर से कॉल आया जिसने फोन पर अमित की बेटी वैष्णवी को छोड़ने की एवज में 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी। वह युवकों से कोई और बात कर पाता, इससे पहले फोन कट हो गया। लिहाजा, पड़ोसी ने इस बात की जानकारी अमित को दी जिसे सुनते ही पूरा परिवार सहम गया क्योंकि उन्हें इस बात का जरा भी आभास नहीं था कि कोई उनसे इस तरह की डिमांड भी कर सकता है।
PunjabKesari
मामले को लेकर किया टीमों का गठन
डी.एस.पी. सुरेश कौशिक ने बच्ची के पिता व गांव में लोगों से इस मामले को लेकर चल रही जांच के दौरान बताया कि 3 टीमों का गठन कर दिया गया है। टीमें आरोपियों की धरपकड़ व बच्ची की तलाश में जुट गई हैं। वहीं, इस मामले को लेकर साइबर सैल की भी मदद ली जा रही है। जिस नम्बर से फिरौती की कॉल आई है उस नम्बर की भी साइबर सैल के जरिए लोकेशन का पता लगाया जा रहा है।

आरोपी को किया गिरफ्तार
पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया कि वैष्णवी के अगवा करने के बाद हत्या की साजिश कैंट के ही एक नामी एडिड स्कूल में पढ़ने वाले 11वीं क्लास के स्टूडेंट ने रची है। आरोपी बच्ची के चाचा की दुकान पर काम करने वाले नौकर का रिश्तेदार है। यह सब छात्र ने क्यों और किसलिए किया, अभी इस बात का पता नहीं चल पाया है। 

एसपी ने बताया कि किडनैपिंग के बाद फिरौती का कॉल आते ही पुलिस अलर्ट हो गई थी। तमाम जगह नाकाबंदी कर दी थी। सभी स्पेशल टीम और डीएसपी रैंक के अधिकारी किडनैपर्स का पीछा कर रहे थे क्योंकि नंबर यूपी का था इसलिए पुलिस देर रात तक साइबर सेल की मदद से ट्रैक करने में जुटी रही। आखिर में पुलिस जब उस नंबर तक पहुंची तो उन्हें किडनैपर मिल गया। अफसोस इस बात का है कि वह बच्ची को पानी में डुबो कर मार चुका था और उसने पुलिस को गुमराह करने के लिए बच्ची के शव को कूलर में छिपा दिया था। मामले में और कौन लोग शामिल हैं, इसे लेकर जांच चल रही है।
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!