राष्ट्रपति चुनावों में वोटिंग के दौरान अभय चौटाला को सताता रहा इंक कंट्रोवर्सी का डर

Monday, July 17, 2017 4:36 PM

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरनी):हरियाणा विधानसभा में राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट देने दे लिए इनेलो नेता अभय चौटाला अपने पार्टी कार्यकर्ताअों के साथ आए, जहां वे वोट देने के बाद मीडिया से रू-ब-रू हुए। उन्होंने इंक कंट्रोवर्सी पर तंज कसते हुए कहा कि उनका नाम किसी इंक कंट्रोवर्सी में न आ जाए इसलिए वे लेट आए हैं। 

चौटाला ने कहा कि जब मैं वोट डालने गया तो अंदर कांग्रेस के एंजेंट के रुप में करण दलाल अौर बीजेपी का अोपी धनखड़ बैठे हैं। मैंने वोट डालने से पहले उनसे पूछा कि उन दोनों ने कहीं आपस में कलमें तो नहीं बदली हैं। इसके साथ ही चौटाला ने पूछा कि कलम बदलने वाला जो पहला व्यक्ति था वह वोट डाल गया या कहीं बैठा है। इसके साथ ही अभय चौटाला ने कहा कि हम इसलिए लेट आए ताकि सब अपना वोट डाल दें, कहीं ऐसा न हो कि वोट कोई अौर बदले अौर नाम हमारा आ जाए। 

उन्होंने कहा कि मैंने तो वोट डालने से पहले कलम को भी अच्छे से देखा। इतना ही नहीं चौटाला ने कलम देने वाले से भी पूछा कि ये वही कलम है। इसके साथ ही उन दोनों से भी पूछा कि जब तुम हमारी पार्टियों के लिए वोट डालने आए थे तो इसी कलम का प्रयोग हुआ था या किसी दूसरी का। 

चौटाला ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि उनकी अंतर्रात्मा मरी हुई है। अंतर्रात्मा की बात तो उन लोगों की की जाती है, जिनके अंदर आत्मा होती है। ये मरी हुई आत्मा को लोग हैं। यदि इनमें अंतर्रात्मा होती तो सौ फीसदी ये उस समय राज्यसभा के चुनाव में इस प्रकार की बेइमानी नहीं करते।  



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!