हरियाणा की चौपाल- किचन और कैबिनेट दोनों ने बदला जायका

Monday, June 19, 2017 8:48 AM
हरियाणा की चौपाल- किचन और कैबिनेट दोनों ने बदला जायका

चंडीगढ़ (चंद्रशेखर धरणी):मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की किचन कैबिनेट में हुए पिछले दिनों कुक विवाद ने कइयों के जायके का स्वाद बदल दिया। मुख्यमंत्री निवास, मंत्रियों व अफसरों के घरों पर कार्यरत कुक हड़ताल पर चले गए। कुकों की हड़ताल से भोजन की व्यवस्था बाहर से करनी पड़ी। सत्तापक्ष और विपक्ष ने 5 दिन तक राजनीतिक बयानबाजी छोड़ कुक विवाद पर प्रवचन करते रहे, साथ में चर्चा यह भी रही कि कैबिनेट मंत्री पहले ही अलग-अलग सुर में बात कर रहे हैं यानी की कैबिनेट का जायका पहले ही बदला हुआ है। यह सर्वविदित है की अंदरुनी रूप से प्रदेश के कैबिनेट मंत्रियों में शुरू से ही आपसी विवाद हैं। वहीं विरोधियों को कहना है कि किसी भी राजा की किचन कैबिनेट मजबूत होनी चाहिए तभी उसका साम्राज्य मजबूत होगा। 

कांग्रेस की त्रिवेणी 
कांग्रेस की त्रिवेणी अशोक तंवर, भूपेंद्र सिंह हुड्डा व रणदीप सुरजेवाला मध्यप्रदेश के किसान आंदोलन की आड़ में हरियाणा में भी अलग-अलग जगह धरने प्रदर्शन कर खुद को किसान प्रेमी साबित करने में लगे हैं। वहीं सतापक्ष और इनैलो ने कांग्रेस नेताओं के इन प्रदर्शनों को चौधरी की लड़ाई करार दिया। अशोक तंवर व भूपेंद्र सिंह हुड्डा गुटों में चल रहा यह खेल किसी से छिपा नहीं है। अब देखना यह कि कांग्रेस की इस त्रिवेणी का संगम होगा भी या नहीं। फिलहाल रणदीप सुर्जेवाला इस गुटबाजी की राजनीति से दूर रहे हैं, राहुल-सोनिया दरबार में उनकी गिनती प्रमुख स्तम्भों में होती है। 

खुल्लर प्रधान सचिव ही रहेंगे 
मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर अतिरिक्त सचिव के पदनाम के लिए नामित हुए हैं ,चर्चा है कि वह हरियाणा में ही इसी पद पर ही रहेंगे। खुल्लर के पास अभी लोक संपर्क विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव का जिम्मा भी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के विश्वासपात्र अधिकारी बनने का कारण भी खुल्लर की बेहतरीन कार्यप्रणाली है। जाट आंदोलन के दूसरे दौर में संयम, कुशलता व अनुभव की परिपक्वत्ता से समाधान तलाशने में सरकार के लिए संकटमोचक की भूमिका निभा चुके। मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर सहित 3 आर्ई.ए.एस. अधिकारियों को केंद्र्र में अतिरिक्त सचिव के पदनाम के लिए नामित किया गया है। इन अधिकारियों में तरुण बजाज और टी.वी.एस.एन. प्रसाद के नाम भी शामिल हैं। 

अभय चौटाला को गुस्सा क्यों आया 
नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला को उस वक्त गुस्सा आ गया जब मुख्यमंत्री निवास पर तैनात कर्मियों ने इनैलो शिष्टमंडल को मुख्यमंत्री निवास पर जाने से पहले जामा -तलाशी के लिए कहा। गुस्साए अभय ने ऐलान कर दिया कि आज के बाद वह मुख्यमंत्री निवास पर होने वाली किसी भी बैठक हिस्सा नहीं लेंगे। खबर जैसे ही मुख्यमंत्री तक पहुंची तो मुख्यमंत्री ने अभय को फोन कर कहा कि उन्होंने तो उनके लिए भोजन की व्यवस्था कर रखी है लेकिन अभय चौटाला ने मुख्यमंत्री के न्यौते को अस्वीकार कर दिया।

अर्से बाद नजर आए प्रो. वीरेंद्र 
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार रहे प्रो. वीरेंद्र सिंह शनिवार को एम.एल.ए. हॉस्टल में हुड्डा की प्रैस कान्फ्रैंस के बाद आयोजित लंच में नजर आए। जाट आरक्षण आंदोलन के पार्ट -1 के बाद विवादों में आए प्रो. वीरेंद्र सिंह अब हुड्डा के कार्यक्रमों में सार्वजनिक रूप से नजर नहीं आ रहे थे। 

कुर्ता सैरेमनी पंडित जी करेंगे 
2013 में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करवाने के लिए अर्धनग्न प्रदर्शन करने वाले वर्तमान प्रदेश भाजपा सरकार के एक मंत्री व विधायक जो अभी विदेश यात्रा करके लौटे हैं, की कुर्ता सैरेमनी कांग्रेस के पंडित जी यानी पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा करेंगे। यह घोषणा पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने प्रैस कान्फ्रैंस में की। गौरतलब है की 2013 में स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करवाने के लिए ओ.पी. धनखड़ व सुभाष बराला ने अर्धनग्न प्रदर्शन किए थे।  
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !