कटिंग व मालिश की आड़ में हो रहे अनैतिक कार्य, आपत्तिजनक स्थिति में 6 काबू

Monday, March 20, 2017 3:18 PM
कटिंग व मालिश की आड़ में हो रहे अनैतिक कार्य, आपत्तिजनक स्थिति में 6 काबू

यमुनानगर(त्यागी):न कोई एक्ट न कोई कानून और न कोई लाइसैंस बस धंधा खोलो और हो जाओ शुरू, जी हां!  प्रदेश भर में खुल रहे अधिकतर सैलून (मसाज केन्द्रों) पर कटिंग व मालिश के नाम पर अनैतिक कार्य किए जा रहे हैं। सिटी पुलिस द्वारा एक सैलून में की गई कार्रवाई से एक बार फिर प्रमाणित हुआ है कि इस प्रकार के अधिकतर सैलूनों में देह व्यापार का धंधा खुलेआम चल रहा है। अनैतिक गतिविधियों के चलते इस प्रकार के सैलून हमेशा से ही पुलिस की भी नजर रहती है। समय-समय पर शिकायत मिलने पर इस प्रकार के सैलूनों पर कार्रवाई भी हुई है और कुछ लोगों को गिरफ्त में भी लिया गया है। गत दिवस हुई कार्रवाई में करीब 6 महिलाओं व पुरुषों को भी गिरफ्तार किया गया। कई बार तो ऐसा भी देखने में आया है कि जिन लड़कियों के सहारे सैलून संचालक अनैतिक कार्य में संलिप्त रहते थे एक दिन खुद भी उन्हींं लड़कियों के चंगुल में फंसकर कहीं के भी नहीं रहे। पुलिस रिकार्ड बताता है कि इस प्रकार के धंधों से जुड़ी लड़कियां शातिर से शातिर कहे जाने वाले युवकों को भी अपने जाल में फांसने में देर नहीं लगाती और बाद में उन्हें ब्लैकमेल करके लाखों रुपए ऐंठने का भी काम करती हैं। इसी प्रकार एक सैलून में देह व्यापार का धंधा कर रही एक लड़की के परिजनों ने अपनी लड़की को सैलून से निकालकर सड़क पर ही सरेआम बेइज्जत करते हुए पीट डाला। मामला पुलिस में भी पहुंचा और बाद में फिर रफादफा हो गया। इस प्रकार के कई मामले प्रदेश के सभी हिस्सों से सामने आते रहे हैं। ऐसे में जो लोग शुद्ध कारोबार भी कर रहे हैं वह भी हमेशा से ही संदेह के घेरे में रहते हैं। 

प्रदेश के हर जिले में खुले हैं ऐसे सैलून 
इस प्रकार के सैलून केवल यमुनानगर में ही नहीं बल्कि प्रदेश के हर जिले में खुल रहे हैं और अधिकतर में अनैतिक धंधा खूब फल-फूल रहा है। यदि यमुनानगर जिले की ही बात की जाए तो 12 से अधिक ऐसे सैलून यहां पर खुले हैं जिनमें से अधिकतर पर अनैतिक कार्य करने की सूचना है। समय-समय पर विभिन्न सैलूनों पर पुलिस ने कार्रवाई भी की जिससे यह प्रमाणित होता है कि यहां अनैतिक कार्य हो रहे थे। इतना ही नहीं पुलिस ने वहां से लड़के व लड़कियों को रंगे हाथों भी पकड़ा है। इस प्रकार के सैलून न तो कहीं पंजीकृत है और न ही इनका कोई लाइसैंस है।

अच्छे सैलूनों पर भी होता है संदेह
इस प्रकार के अनैतिक कार्य के चलते सभी सैलून संदेह के घेरे में हैं और हर समय पुलिस की शिकारी नजर इन पर बनी रहती है। इन सैलून का स्तर देखकर सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है कि बिना अनैतिक कार्य करे ये सैलून चल ही नहीं सकते। इन सैलूनों के खर्चे इतने अधिक है कि कटिंग व मालिश करके ये खर्चे कभी पूरे नहीं हो सकते। अधिकतर सैलून ऐसे हैं जो शहर के पाश क्षेत्रों में खुले हैं जहां के खर्चे भी जरूरत से कहीं अधिक हैं। मिली जानकारी के अनुसार सैलून पर काम करने वाली एक लड़की 10 से 12 हजार रुपए तक मासिक वेतन लेती है व शोरूम का किराया भी लगभग 30 से 50 हजार रुपए तक होता है। इसके अतिरिक्त बिजली व अन्य खर्चों को जोड़ लिया जाए तो लगभग 1-2 लाख रुपए से कहीं अधिक एक माह का आता है। इसके अतिरिक्त और भी कई खर्चे है जिन्हें देखकर लगता है कि कटिंग और शेव से खर्चे नहीं निकल सकते। 

हाई-प्रोफाइल लोग पहुंचते हैं सैलून में 
इस प्रकार के सैलून में हाई-प्रोफाइल लोग अधिक आते हैं। अधिकतर देखा गया है कि दिन ढलते ही इस प्रकार के लोगों का सैलून में आना शुरू हो जाता है। अक्सर रात के अंधेरे में 10 बजे तक इन सैलूनों के बाहर वी.आई.पी. गाड़ियां भी देखी जा सकती हैं जिनमें शहर के बड़े-बड़े उद्योगपति व उनके बच्चे भी शामिल हैं लेकिन इस प्रकार के सैलून में आने से वे भी संदेह के घेरे में आ जाते हैं। अब ये अधिकारी कटिंग व शेव करवाने ही आ रहे हैं या मसाज वो भी अंधेरे में भगवान ही जाने। सूत्रों के मुताबिक इन.वी.आई.पी. ग्राहकों के लिए सैलूनों में व उनके आसपास गुप्त कमरे भी बनाए गए हैं जहां पर परिंदा भी पर नहीं मार सकता और वहां पर इन वी.आई.पी. ग्राहकों को स्पैशल सेवा दी जाती है।

सैलून संचालकों की है मजबूरी 
एक सैलून संचालक के परिवार के सदस्य ने जानकारी देते हुए बताया कि सैलून संचालक यदि लड़कियों से लड़कों की मालिश करवाते हैं तो यह कार्य भी अनैतिक कार्यों में आता है। जबकि सही मायनों में पुरुष ही पुरुष ग्राहक की कटिंग व शेव तथा मालिश आदि कर सकता है। उसने बताया कि अधिकतर सैलून पर ऐसा ही होता है लेकिन यह अनैतिक है लेकिन साथ ही उसका यह भी कहना है कि यदि ऐसा न करें तो ग्राहक नहीं आते। यह सैलून संचालकों की मजबूरी भी है और पैसे कमाने का एक जरिया भी। 

पुलिस पवक्ता ने कहा कि समय-समय पर पुलिस इस दिशा में कार्रवाई करती है। विशेष रूप से जब किसी सैलून के बारे में यह शिकायत मिलती है कि यहां अनैतिक कार्य हो रहा है तो पुलिस कार्रवाई करती है और इस प्रकार की कार्रवाई समय-समय पर होती रही है। किसी भी प्रकार के अनैतिक कार्य करने की किसी को अनुमति नहीं दी जा सकती। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!