1152 जेबीटी का इंतजार खत्म, नियुक्ति और कार्रवाई का फैसला आज

Monday, June 19, 2017 9:20 AM
1152 जेबीटी का इंतजार खत्म, नियुक्ति और कार्रवाई का फैसला आज

चंडीगढ़ (अविनाश पांडेय):पिछले 2 सालों से नियुक्ति की बाट जोह रहे 1152 जे.बी.टी. (जूनियर बेसिक टीचर) का इंतजार अब खत्म होने वाला है। मधुबन एफ.एस.एल. की जांच रिपोर्ट शिक्षा विभाग के ए.सी.एस. के पास पहुंच गई है। माना जा रहा है कि आज ए.सी.एस. पी.के. दास इस मामले में अहम फैसला करेंगे। शिक्षा विभाग के इस फैसले से जहां सैंकड़ों जे.बी.टी. की नियुक्ति का रास्ता साफ होगा, वहीं एफ.एस.एल. जांच में फर्जी पाए गए अभ्यर्थियों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश भी की जा सकती है।

गौरतलब है कि हरियाणा के 1320 नवचयनित जे.बी.टी. में से 1152 का भविष्य मधुबन की एफ.एस.एल. पर टिका है। एफ.एस.एल. की रिपोर्ट बीते सप्ताह ही हरियाणा शिक्षा विभाग के पास पहुंची थी, लेकिन किन्हीं कारणों से अब तक रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया गया। सूत्रों की मानें तो आज शाम तक शिक्षा विभाग के ए.सी.एस. की ओर से इस पर अंतिम फैसला लिया जा सकता है। 2014 में जारी पहली लिस्ट में शामिल 787 जे.बी.टी. में से 317 की रिपोर्ट लैबोरेट्री से न गलत न सही दी गई थी, जिस पर स्कूल शिक्षा विभाग ने स्पष्ट मत मांगा था। जबकि 470 जे.बी.टी. के हस्ताक्षरों की जांच हुई ही नहीं थी, जिसे अब पूरा कर लैबोरेट्री ने सरकार को भेज दिया है। 2013 के हरियाणा पात्रता परीक्षा पास अध्यापकों की जारी दूसरी सूची में शामिल 168 जे.बी.टी. की जांच अभी लंबित है। इसमें से 100 जे.बी.टी. के हस्ताक्षरों के नमूने मधुबन जांच लैबोरेट्री दोबारा लेगी। 

68 की जांच रिपोर्ट लैबोरेट्री की एक महिला अधिकारी की अलमारी में बंद है, जबकि अधिकारी अमरीका में है। इसलिए उनके भविष्य पर तलवार लटकी है। 6 जून को आई जांच रिपोर्ट सार्वजनिक करवाने के लिए हरियाणा पात्र अध्यापक संघ सरकार पर दबाव बनाए हुए है। शुक्रवार को संघ के पदाधिकारी शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा से चंडीगढ़ में मिले थे। शर्मा ने ए.सी.एस. स्कूल शिक्षा को जल्द रिपोर्ट सार्वजनिक करने के मौखिक निर्देश उसी समय दे दिए थे। 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !