साइको किलर ने पूछताछ में साधी चुप्पी, हत्या के सिवाए सभी सवालों का दिया सही जवाब

Wednesday, January 10, 2018 12:01 PM
साइको किलर ने पूछताछ में साधी चुप्पी, हत्या के सिवाए सभी सवालों का दिया सही जवाब

पलवल(गुरुदत्त गर्ग):एक साथ छह लोगों की हत्या करने वाले साइको किलर को गत शाम करीब साढ़े चार बजे, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश मोना सिंह की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने किलर नरेश को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है, साथ ही पुलिस उसे 11 जनवरी को अदालत में पेश करेगी। इस दौरान उसने पुलिस से कहा कि मैं कृषि विभाग में अधिकारी हूं और वहां से छुट्टी लेकर आया था, पता नहीं मुझे कैसे चोट लग गई।

मैं अस्पताल से दवाई लेकर आया हूं। अब छुट्टी भी खत्म हो गई और मुझे ड्यूटी जाना है।आपको बता दें कि बीते साल की आखिरी रात सिर्फ दो घंटे में छ: लोगों को मौत की नींद सुलाने वाले साईको किलर नरेश को पुलिस ने मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से डिस्चार्ज होते ही गिरफ्तार कर लिया, जिसके बाद जिला नागरिक अस्पताल में उसका मेडिकल कराया गया।

मेडिकल जांच में पूछे गए सवालों का दिया सही जवाब
जानकारी के अनुसार मेडिकल जांच में आरोपी नरेश से उसकी पढ़ाई और डिग्री के बारे में पूछा गया, जिसका उसने बिल्कुल सही जवाब दिया। यहां तक की अपनी फौज की नौकरी के बारे में भी काफी कुछ बताया और ये भी कि कब उसने वीआरएस के बाद कृषि विभाग में नौकरी ज्वाइन की थी। लेकिन जब पुलिस ने उससे छह हत्याओं के बारे में पूछा तो उसने चुप्पी साध ली।

परिवार के बारे में दी जानकारी 
पुलिस ने आरोपी से जब उसके परिवार के बारे में पूछा तो उसने अपनी पत्नी, बेटे, ससुर का नाम और ससुराल का पता भी बताया। आरोपी ने एक के बाद एक सभी बातों का सही जवाब दिया, सिवाय हत्या के। जब भी उससे पूछा गया कि लोहे की रॉड वह कहां से लेकर आया था और पलवल अस्पताल में क्या करने गया था। उसने कोई भी जवाब नहीं दिया।

घटना हुई सीसीटीवी में कैद
नरेश जिस समय एक युवक को मारने के लिए उसके पीछे भाग रहा था, उस वक्त की घटना एक सीसीटीवी में कैद हो गई। सीसीटीवी में एक महिला और अन्य व्यक्ति भी दिखाई दे रहे हैं लेकिन आरोपी ने उन्हें कुछ नहीं कहा और उस युवक के पीछे ही दौड़ता हुआ अस्पताल से बाहर निकल गया।

दिमाग के इलाज के लिए किया गया था भर्ती
आरोपी युवक को पुलिस ने घटना के दुसरे दिन ही हिरासत में ले लिया था, जिसके बाद उसे दिमाग की सर्जरी के लिए दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती किया गया। सर्जरी के बाद जब नरेश को होश आया तो उसने किसी को भी पहचानने से साफ इंकार कर दिया था। करीब 8 घंटे की पूछताछ के बाद कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पाने की वजह से पुलिस ने कहा कि बुधवार को आरोपी के परिजनों को उसके साथ बिठाकर पूछताछ की जाएगी।
 



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!