गरीबी रोड़ा बनी, फिर भी आसमान छू गए हरियाणा के ये होनहार

Friday, May 19, 2017 10:57 AM
गरीबी रोड़ा बनी, फिर भी आसमान छू गए हरियाणा के ये होनहार

भिवानी (पुरुषोत्तम):हरियाणा विद्यालय विद्यालय शिक्षा बोर्ड की मार्च-2017 में संचालित सीनियर सैकेंडरी (शैक्षिक) परीक्षा का परिणाम 64.50 फीसदी तथा स्वयंपाठी परीक्षार्थियों का परिणाम 36.73 फीसदी रहा है। शैक्षिक परीक्षा में 73.44 प्रतिशत लड़कियों व 57.58 प्रतिशत लड़के उत्तीर्ण हुए। उक्त शैक्षिक परीक्षा में 2,10,867 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए थे जिनमें से 1,36,008 उत्तीर्ण हुए। 42,245 परीक्षार्थियों की कम्पार्टमैंट आई है तथा 30,966 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण रहे हैं। इस परीक्षा में 1,18,866 छात्र बैठे थे जिनमें 68,446 पास हुए तथा 92,001 प्रविष्ठ छात्राओं में से 67,562 पास हुई। 

कुसुम बनीं सोनीपत की टॉपर, 90 प्लस का रखा था Target

बोर्ड सचिव अनिल नागर ने बताया कि इस परीक्षा में राजकीय विद्यालयों की पास प्रतिशतता 65.57 रही, राजकीय एडिड विद्यालयों की पास प्रतिशतता 66.38 रही तथा प्राइवेट विद्यालयों की पास प्रतिशतता 63.16 रही है। वहीं ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों की पास प्रतिशतता 66.92 रही है, जबकि शहरी क्षेत्र के विद्यार्थियों की पास प्रतिश्ढछ खात ता 60.26 रही हैं। उन्होंने बताया कि सीनियर सैकेंडरी परीक्षा के स्वयंपाठी परीक्षार्थियों का परिणाम 36.73 प्रतिशत रहा है। इस परीक्षा में 37,767 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए जिनमें से 13,871 पास हुए।
PunjabKesari
रेवाड़ी के हरीश रहे पहले स्थान पर
रेवाड़ी (मोहिंद्र भारती)- उपमण्डल कोसली के छोटे से कसबे में रहने वाले हरीश शर्मा ने राज्य में सीनियर सेकेंडरी परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। 3 भाई बहनों में दूसरे नंबर के हरीश शर्मा पढ़ाई में शुरू से ही अव्वल रहे हैं। माता-पिता के कम पढ़े लिखे होने से उनकी पढाई में कोई बाधक नहीं रहा और आर्थिक स्थिति का कमजोर होना भी  उनके बुलंद इरादों को नहीं तोड़ पाया। 
PunjabKesari
हरीश ने बताया कि न तो उन्होंने कभी कोई ट्यूशन की कक्षा नहीं ली और न ही किसी कोचिंग सेंटर को ज्वाइन किया। बस स्कूल के अध्यापकों का मार्गदर्शन और परिवार का सहयोग उनके साथ रहा। उन्होंने बताया कि कामयाबी का गुरुमंत्र केवल लगातार प्रयास है और कुछ नहीं। उन्होंने बताया कि वे बहुत खुश हैं, उन्हें टॉप ten में आने की उम्मीद तो थी पर हरियाणा में टॉप पर आकर वे बहुत खुश है। उनके पिता केवल 9वीं पास है और उनकी छोटी सी इन्वर्टर बैटरी की दुकान है। उनकी माता ग्रहणी हैं। बेटे की खुशी पर उनकी माता का कहना है कि भगवान सबकी सुनता है। स्कूल प्रभंदन के अनुसार हरीश शुरू से ही अनुशासन में रहा है और वो अपना अधिकांश समय व्यतीत करता है और उन्हें उस पर गर्व है। 
PunjabKesari
राज्य में करनाल की बेटी उर्वशी दूसरे स्थान पर रहीं
करनाल (कमल मिड्ढा)-12वीं की परीक्षा में करनाल की बेटी उर्वशी मक्कड़ ने हरियाणा में दूसरा स्थान हालिस किया है। उसका कहना है कि आज वह बहुत खुश है। कोमर्स की पढ़ाई में वह आगे पढ़ना चाहती है और आगे आई.ए.एस. बनना चाहती हैं जबकि वह न्यूरो सर्जन बनना चाहती थी परन्तु हालात के अनुसार उसने इरादा बदल लिया है।
PunjabKesari
उसके पिता विजय मक्कड़ का कहना है कि उनको बेटी को पढ़ाने में कोई दिक्कत नहीं आई। स्कूल वालो ने पूरा साथ दिया। उन्होंने कहा कि वह बेटी को आगे भी पढ़ना चाहता हूं, लेकिन फाइनेंशियल हालत सही नहीं है। सरकार ऐसे होनहार बच्चों की मदद करे। वही, मां प्रवीण देवी ने बताया कि इस उपलब्धी पर वह बहुत खुश है और अपनी बेटी को आई.ए.एस. बनाना चाहती हैं। उनको अपनी बेटी पर नाज है।

सोनीपत के विनित ने संयुक्त रूप से तीसरी रैंक हासिल की है। 

जिले का नाम       पास प्रतिशत
अम्बाला            63.88
भिवानी            67.30
फरीदाबाद         47.86
फतेहाबाद         71.23
गुरुग्राम           52.01
हिसार             67.49
झज्जर            71.51
जींद               66.09
करनाल           62.06
कैथल             67.04
कुरुक्षेत्र            65.43
महेंद्रगढ          70.67
पंचकूला          59.87
पानीपत         69.25
रेवाड़ी            74.41
रोहतक          59.26
सिरसा           70.68
सोनीपत        70.29
यमुनानगर     53.79
मेवात           59.46
पलवल          54.20


 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!