हरियाणा में हाईअलर्ट- दिल्ली कूच पर अड़े जाट, सरकार ने बुलाई पैरामिलिट्री की 125 कंपनियां

Sunday, March 19, 2017 9:39 AM

रोहतक/झज्जर/सोनीपत/हिसार/चंडीगढ़:अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति और प्रदेश सरकार के बीच वार्ता विफल होने के बाद जाटों ने दिल्ली कूच की तैयारियां पूरी कर ली हैं। वहीं, प्रशासन ने भी ट्रैक्टरों से दिल्ली कूच को विफल करने और जिलों की कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कमर कस ली है। धरनास्थलों पर दिनभर बड़ी संख्या में महिला, पुरुष धरने में शामिल रहे। झज्जर के राशलवाला चौक पर धरने में शामिल लोगों से 20 मार्च को दिल्ली पहुंचने की अपील की गई, साथ ही गांव-गांव समिति ने लोगों से दिल्ली कूच को लेकर तैयारी करने की अपील की है। वार्ताओं की स्थिति स्पष्ट न होने के कारण 2 दिन से दिल्ली कूच की सरगर्मियां तेज हो गई हैं और दिल्ली की सीमा के साथ लगता जिला होने के कारण झज्जर में अन्य जिलों की तुलना में ज्यादा दबाव समिति व प्रशासन पर बना हुआ है। 

8 जिलों में इंटरनेट ठप
हिसार, चरखी दादरी, रोहतक, झज्जर, भिवानी, कैथल, जींद और सोनीपत में इंटरनेट ठप कर दिए गए है। इसके अलावा इन इलाकों में शराब पर पाबंदी के साथ धारा 144 लागू कर दी गई है। प्रशासन ने ट्रैक्टर-ट्रालियों में 4-5 लोगों के बैठकर चलने पर भी पाबंदी लगाई है। इसके अलावा पैट्रोल पंपों को भी निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी ट्रैक्टर में 10 लीटर से अधिक ईंधन न डालें। साथ ट्रैक्टर-ट्राली में तेल डलवाने वाले चालक का नाम, वाहन का पंजीकरण नंबर व वाहन में सवार अधिक लोगों का ब्यौरा भी पैट्रोल पंप को रखना होगा। रेलवे ट्रैक के आसपास भी 5 से अधिक लोगों के रुकने पर पाबंदी रहेगी।

पैरामिलिट्री की 125 कंपनियां तैनात
कानून-व्यवस्था के लिए प्रदेश में पैरामिलट्री की 125 कंपनी तैनात हैं। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए सेना से भी मदद मांगी है। सैन्य अफसर तय करेंगे कि कितनी टुकड़ियां तैनात होंगी। किसी को भी कानून तोड़ने की इजाजत नहीं है। ऐसा करने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी। 
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !