आरक्षण समाप्त करने की मांग को लेकर, राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

Tuesday, May 16, 2017 4:17 PM
आरक्षण समाप्त करने की मांग को लेकर, राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

यमुनानगर:आरक्षण मुक्त भारत संगठन द्वारा गत दिवस समस्त भारत से आरक्षण समाप्त करने की मांग करते एक ज्ञापन जिला उपायुक्त के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को भेजा। आरक्षण को जड़ से खत्म करने को लेकर संगठन द्वारा रोड मार्च भी निकाला गया। इसके बाद भारी संख्या में संगठन से जुड़े सैंकड़ों कार्यकर्त्ता लघुसचिवालय पहुंचे जहां पर महामहिम राष्ट्रपति के नाम जिला उपायुक्त को ज्ञापन पत्र सौंपा। 

संगठन के पदाधिकारियों ने कहा कि आज के समय में आरक्षण पूरे देश के लिए एक भयंकर समस्या बन चुका है। समाज में भाईचारे को नुक्सान हो रहा है। जिसके ताजा उदाहरण फरवरी, 2016 का जाट आरक्षण आंदोलन व गुजरात में हुआ पाटीदार आंदोलन है। देश के हर राज्य में राजनीतिक पार्टियां आरक्षण को अपने वोट बैंक बढ़ाने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने राष्ट्रपति से मांग की कि नौकरियों में आरक्षण 100 प्रतिशत समाप्त हो, प्रमोशन में, स्कूल व कालेजों की फीसों में आरक्षण समाप्त हो। उद्योग लगाने व अन्य प्रकार की आर्थिक सहायता में आरक्षण समाप्त, सरकार द्वारा जारी लोन में आरक्षण समाप्त हो। आरक्षण मुक्त भारत संगठन यमुनानगर के सदस्यों ने मांग की है कि समाज में भाईचारे को बचाने व सबका साथ-सबका विकास पूरा करने के लिए आरक्षण को हर प्रकार से समाप्त किया जाए, तभी हमारे भारत देश का सही रूप में विकास संभव है, जहां पर सभी को उन्नति के समान अवसर प्राप्त होंगे व भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी।
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!