संस्कार के लिए ले जा रहे युवक के साथ हुआ कुछ ऐसा, हैरान रह गए लोग

Saturday, February 10, 2018 12:44 PM
संस्कार के लिए ले जा रहे युवक के साथ हुआ कुछ ऐसा, हैरान रह गए लोग

यमुनानगर(ब्यूरो): बिलासपुर के गांव मछरौली में बीते दिन को 55 वर्षीय राजकुमार को मृत समझकर परिजन संस्कार के लिए श्मशान घाट ले जा रहे थे कि संस्कार से ठीक पहले राजकुमार जीवित हो उठा। आनन-फानन में तुरंत राजकुमार को पी.जी.आई. चंडीगढ़ ले जाया गया। मछरौली निवासी राजकुमार को बीते दिन दिल का दौरा पड़ा था। परिजन उसे उपचार के लिए ट्रॉमा सेंटर यमुनानगर ले गए। 

जहां पर डाक्टरों ने उसका उपचार शुरू किया लेकिन हालत में सुधार नहीं होने पर डाक्टर ने उसे पी.जी.आई. चंडीगढ़ रैफर कर दिया परंतु परिजन उसे पी.जी.आई. ले जाने की बजाय शहर के निजी अस्पताल में ले गए। यहां डाक्टर ने उसे एडमिट तो कर लिया लेकिन हालत में सुधार नहीं हुआ। इसलिए डाक्टर ने परिजनों से कहा कि अब इसमें कुछ नहीं रह गया। परिजनों ने समझा कि डाॅक्टर ने राजकुमार को मृत घोषित कर दिया है। इसलिए वे उसे अपने घर ले गए।

 गांव में पहुंचते ही राजकुमार के अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू कर दी। राजकुमार की मौत का समाचार सुनकर रिश्तेदार भी गांव में पहुंच चुके थे। संस्कार से पहले जब राजकुमार को नहलाने लगे तो लोगों ने राजकुमार के हाथ व पांव हिलते देखे। परिजनों ने जब निजी अस्पताल की दी गई पर्ची को देखा तो उसमें रैफर लिखा हुआ था। इसे देखकर सभी हैरान रह गए। परिजन उसे तुरंत गाड़ी में पी.जी.आई. चंडीगढ़ लेकर गए। समाचार लिखे जाने तक राजकुमार की हालत गंभीर बनी हुई थी।
 



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!