हाईवोल्टेज हंगामा: अल्ट्रासाउंड पर रेड, डॉक्टर की गिरफ्तारी पर आईएमए का विरोध

10/24/2021 11:14:58 AM

रेवाड़ी (योगेंद्र सिंह) : भ्रूण लिंग जांच के आरोप के बाद गुरुग्राम की पीएनडीटी टीम ने ब्रास मार्केट स्थित अल्ट्रासाउंड सेंटर पर रेड की, डॉक्टर को गिरफ्तार किया और इसके बाद देर रात्रि तक हाईवोल्टेज हंगामे का दौर चला। आईएमए के डॉक्टर इस कार्रवाई पर सवाल उठा रहे थे और इसी के चलते अल्ट्रासाउंड संचालक की गिरफ्तारी नहीं हो सकी।

दरअसल गुरुग्राम की टीम ने एक डिकोय महिला पेशेंट का एक दलाल से संपर्क कराया और भ्रूण लिंग जांच का सौदा तय किया। इस पर दलाल महिला को लेकर ब्रास मार्केट स्थित अल्ट्रासाउंड लेकर पहुंचा। अल्ट्रासाउंड संचालक ने अल्ट्रासाउंड किया और इसके बाद अलर्ट गुरुग्राम की टीम ने रेड की। टीम ने सीसीटीवी की डीवीआर जब्त कर ली। सूचना मिलते ही आईएमए के डॉक्टरों की टीम मौके पर पहुंच गई और उन्होंने इस कार्रवाई का जमकर विरोध किया। दोपहर शुरू हुआ हंगामे का दौर देर रात्रि करीब एक बजे तक चलता रहा। विरोध के चलते अल्ट्रासाउंड संचालक डॉ राजेश गोयल को जिप्सी में लेकर जा रही पुलिस को अंत में जिप्सी से उतारना पड़ा।

डॉ प्रदीप कुमार की अगुवाई वाली टीम का कहना है कि दलाल ने डिकोय पेशेंट को बताया कि गर्भ में लडक़ा है और इसी आधार पर कार्रवाई की जा रही है। दूसरी ओर आईएमए अध्यक्ष डॉ पवन गोयल का कहना है कि हम गैरकानूनी काम का संरक्षण नहीं करेंगे लेकिन किसी डॉक्टर के साथ गलत नहीं होने देंगे। आईएमए का सवाल था कि यदि अल्ट्रासाउंड पर गलत हो रहा था तो गुरुग्राम की टीम ने सीसीटीवी की डीवीआर क्यों हटाई। कार्रवाई को कैमरे की निगरानी में करने से उन्हें क्या दिक्कत थी। दलाल को भी पीटा गया और हो सकता है दबाव डालकर उससे कुछ भी बयान दिलाया हो। बताया जाता है कि डिकोय महिला पहले दूसरे डॉक्टर के पास भी गई थी वहां फर्जी आईडी देकर अल्ट्रासाउंड कराया। मरीजों की भीड़ के चलते डॉक्टर के पास इतना समय नहीं होता कि वह आईडी वह भी पुरानी में धुंधली फोटो का मिलान कर सके। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static