हरियाणा में बुधवार तक कोरोना के 17 पॉजिटिव केस, सीएम ने बनाया राहत कोष, गाना लिखो इनाम पाओ

3/25/2020 9:47:34 PM

चंडीगढ़ (धरणी): हरियाणा में बुधवार तक कोरोना संक्रमण से पीड़ित मरीजों की संख्या 17 रही। वहीं मुख्यमंत्री ने राहत कोष का गठन करके सहयोग करने की अपील की है। सबसे ज्यादा 10 मरीज गुरुग्राम जिले के हैं,जबकि सात मरीज अन्य जिलों के हैं। तीन मामले पानीपत में, दो फरीदाबाद, एक सोनीपत, पंचकूला और पलवल में सामने आए। पानीपत में कोरोना तीसरा पॉजिटिव केस बुधवार को सामने आया। पानीपत निवासी मेदांता हॉस्पिटल गुरुग्राम में कार्यरत नर्स कोरोना पॉजिटिव निकली, जो पानीपत में अपने घर आयी थी, जहां तबियत खराब होने पर उसे सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। अब नर्स को आइसोलेट किया गया है। 

हरियाणा में इस वक्त 8675 संदिग्ध मरीज मेडिकल सर्विलांस के दायरे में हैं। इनमें से 8058 मेडिकल सर्विलांस पर हैं। 92 संदिग्ध मरीजों को अस्पताल में भर्ती कर उनका इलाज किया जा रहा है। 405 संदिग्ध मरीजों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं, जिनमें से 16 सैंपल पॉजिटिव आए और 326 सैंपल निगेटिव आए। 65 मरीजों के सैंपल आना अभी बाकी हैं। 617 संदिग्ध मरीजों को 28 दिन के मेडिकल सर्विलांस के बाद स्वस्थ होने पर घर भी भेज दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक संक्रमित नर्स पानीपत की ईदगाह कॉलोनी की रहने वाली है। वह मेदांता में काम करती थी। 22 मार्च को गुरुग्राम से पानीपत आई थी। यहां आने के बाद उसकी तबीयत बिगड़ गई। इसके बाद वह पानीपत के सिविल अस्पताल में कोरोना का सैंपल देने गई थी। उसी दिन उसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया गया था। मंगलवार देर रात उसकी रिपोर्ट आई है,जिसमें उसके पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। डॉक्टर उसपर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

ये बोले हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का कहना है कि कारोना वायरस इम्पोर्टेड वायरस है। यह भारत में पैदा नहीं होता। इससे बचने के लिए इसके वाहक जो विदेशों से लौटे हैं उनसे बचना जरूरी है। सरकार ने उन्हें क्वारेंटाइन किया है। यदि वह इसका पालन नहीं कर रहे तो पुलिस को इसकी जानकारी दें।

हरियाणा में 447 नए डॉक्टर किए नियुक्त
कोरोना से बचने के लिए हरियाणा सरकार ने 447 डॉक्टरों को नियुक्ति पत्र जारी कर दिया है। आपात स्थिति से निपटने के लिए शहरी स्थानीय निकाय और गृह विभागों के लिए 100-100 करोड़ रु. का रिवोल्विंग फंड बनाया जाएगा। यह निर्णय मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया। 4 और स्थानों पर कोरोना के टेस्ट की सुविधा जल्द निजी लैब में भी शुरू होगी। इन लैब में स्वास्थ्य विभाग द्वारा रेफर टेस्ट की लागत सरकार वहन करेगी। निजी लैब को स्वास्थ्य विभाग को सभी जांच रिपोर्ट के बारे में सूचित करना अनिवार्य होगा, जिसमें निजी मामले जो स्वास्थ्य विभाग द्वारा रेफर न किए गए हों, भी शामिल हैं।

स्वैच्छिक योगदान के लिए रिलीफ फंड
हरियाणा सरकार ने कोरोना रिलीफ फंड की स्थापना कर दी है। स्वैच्छिक तौर पर हर व्यक्ति सहयोग कर सकता है। हरियाणा सरकार की खाता संख्या 39234755902 में आईएफएससी कोड एसबीआई एन 0013180 में राशि जमा करा सकते हैं। बैंक शाखा पंचकूला के सेक्टर-10, एससीओ 14 में स्थित है।

कोरोना पर गीत कहानी लिखो, इनाम देगी सरकार
हरियाणा सरकार ने कोविड संघर्ष सेनानी नाम से प्रतियोगिता शुरू की है, जिसके तहत कोई भी किशोर, युवा या वरिष्ठ नागरिक किसी भी प्रेरणा, कविता, गीत, कहानी, गाथा, संदेश या भाषण के माध्यम से इस कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ अपनी लड़ाई सांझा कर सकता है। पूरे राज्य में हर रोज अधिकतम 100 प्रविष्टियों को 100 रुपये से लेकर 1000 रुपये तक के पुरस्कार दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के मदेनजर लॉकडाउन अवधि के दौरान 112 राजकीय स्कूलों के 1.87 लाख से अधिक छात्रों के अध्ययन को सुनिश्चित करने के लिए सभी शिक्षकों ने एलएमएस सॉफ्टवेयर के माध्यम से उच्चतर शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर अपने व्याख्यान (लेक्चर) को रिकॉर्ड करना और अपलोड करना शुरू कर दिया है ताकि छात्र अपने घरों में बैठकर शिक्षा सेतु ऐप के माध्यम से शिक्षा प्राप्त कर सकें।


Shivam

Related News