मिड-डे-मील में हुआ बड़ा फर्जीवाड़ा, 16 लाख बच्चों को केवल कागजों में मिला खाना

punjabkesari.in Monday, May 09, 2022 - 01:44 PM (IST)

चंडीगढ़(ब्यूरो): हरियाणा के सरकारी स्कूलों में मिड-डे-मील को लेकर एक बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है, जिसके अनुसार अप्रैल माह में पहली से आठवीं कक्षा तक के करीबन 16 लाख बच्चों को मिड-डे मील केवल कागजों में ही मिला है। चौंकाने वाली बात है कि इतने बड़े खेल को लेकर शिक्षा निदेशालय को कोई खबर नहीं लगी। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सूरजेवाला ने भाजपा-जजपा सरकार पर प्रदेश के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है।

जानकारी के अनुसार प्रदेश के सरकारी स्कूलों में मिड-डे-मिल का राशन ही नहीं पहुंचा। लेकिन हैरानी की बात है कि कागजों में महीनेभर मिड-डे-मिल का भोजन पकता रहा। मौलिक शिक्षा निदेशक भी यही समझते रहे कि स्कूलों में मिड-डे मील परोसा जा रहा है, जबकि असलीयत में ऐसा हुआ ही नहीं। राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा इस मामले का खुलासे किए जाने के बाद मौलिक शिक्षा निदेशालय में हड़कंप मच गया है। इस मामले में अब मिड-डे मील शाखा से रिपोर्ट मांगी गई है कि अप्रैल माह में स्कूलों में मिड-डे-मिल के तहत बच्चों को खाना क्यों नहीं दिया गया।

अब सीधे विक्रेता से राशन खरीदने की तैयारी में विभाग

मिड-डे-मिल के राशन खरीद को लेकर मौलिक शिक्षा निदेशक द्वारा बीती दो मई को एक आदेश जारी किया गया है, जिसके अनुसार अब राशन की खरीद विक्रेता के जरिए की जाएगी। अनाज व सब्जियों समेत तमाम तरह के राशन और अन्य सामान खरीदने के लिए पैसे स्कूल के खातों की बजाय सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली के माध्यम से विक्रेता के खाते में ही डाले जाएंगे।

सूरजेवाला बोले, हरियाणा का वर्तमान और भविष्य चौपट कर रही सरकार

मिड-डे-मिल में फर्जीवाडे सामने आने के बाद विपक्ष भी सरकार पर हमलावर हो गया है। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सूरजेवाला ने भी एक ट्वीट करते हुए प्रदेश सरकार पर हमला बोला है। सूरजेवाला ने लिखा कि जिन नन्हें-मुन्ने बच्चों की मुट्ठी में देश का भविष्य रहता है, वो आज खाली पेट रहने को मजबूर हैं। हरियाणा में पहली से आठवीं कक्षा तक के 16 लाख बच्चों का मिड-डे-मील ही बंद कर दिया गया। उन्होंने कहा कि स्कूलों में न तो राशन पहुंचा न ही पौष्टिक आहार। सूरजेवाला ने भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार पर हरियाणा के वर्तमान और भविष्य दोनों को ही चौपट करने के आरोप लगाए।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static