करनाल में कमाल नहीं कर पाया बीजेपी का कमल, केवल एक पालिका में मिली जीत

punjabkesari.in Wednesday, Jun 22, 2022 - 03:11 PM (IST)

करनाल : नगर निकाय का चुनाव करनाल में बीजेपी के लिए अच्छा नहीं रहा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल का विधानसभा क्षेत्र होने के बावजूद भी भाजपा करनाल में कुछ खास कमाल नहीं कर पाई। जिले की चार पालिकाओं में से भाजपा के चेयरमैन उम्मीदवार केवल एक पर ही जीत दर्ज कर पाएं है। घरौंडा नगरपालिका में बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच कांटे की टक्कर रही। भाजपा के चेयरमैन उम्मीदवार हैपी लक गुप्ता ने केवल 31 वोटों से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार सुरेंद्र सिंगला को हराया है। ये करनाल की एकमात्र ऐसी सीट है, जहां बीजेपी ने जीत हासिल की है।

घरौंडा से 31 वोट से जीते भाजपा प्रत्याशी, बाकी जगह हारे

जिले की तरावड़ी, असन्ध और घरौंडा में जहां बीजेपी सिम्बल पर चुनाव लड़ रही थी।  वहीं निसिंग में बीजेपी नेता जनक पोपली को सिम्बल पर नहीं लड़ाया गया। जनक पोपली निर्दलीय ही मैदान में उतरे थे। तरावड़ी में भाजपा के प्रत्याशी राजीव नारंग को निर्दलीय उम्मीदवार वीरेंद्र बंसल ने 538 वोटों से हराया दिया। खास बात यह रही कि राजीव नारंग के प्रचार में हरियाणा सरकार का पूरा मंत्रिमंडल उतर आया था। फिर भी उन्हें हार का सामना करना पड़ा। वहीं असन्ध में भी बीजेपी के लिए ऐसी ही तस्वीर बनी। कांग्रेस नेता ज़िले राम शर्मा समर्थित उम्मीदवार सतीश कटारिया ने बीजेपी के कमलजीत सिंह लाडी ने 553 वोटों से जीत हासिल की। वहीं निसिंग में विधायक धर्मपाल गोंदर के समर्थन वाले निर्दलीय उम्मीदवार रोमी सिंगला ने जीत हासिल की।  रोमी ने 2300 वोट से निर्दलीय उम्मीदवार जनक पोपली को हराया।

सीएम की विधानसभा में हार मिलने पर भाजपा के लिए चिंता का विषय

मुख्यमंत्री की विधानसभा में इस तरह के प्रदर्शन के बाद यह बीजेपी के लिए चिंतन करने का विषय बन गया है। जिले की पालिकाओं में जिन उम्मीदवारों ने जीत हासिल की, उनके चेहरे पर खुशी खिल गई। एक ओर जहां लोग खुशी मनाते हुए नजर आए तो वहीं बीजेपी प्रत्याशियों और कार्यकर्ताओं के चेहरे पर मायूसी छा गई। वहीं असन्ध में वार्ड नम्बर 12 में 2 उम्मीदवारों के बीच टाई हो गया था, जिसके बाद एक टॉस हुआ और जगदीश गुप्ता ने जीत हासिल की।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static