कांग्रेस को समाप्त करने के लिए कांग्रेसी ही काफी है, किसी दूसरे की जरूरत नहीं: जेपी दलाल

punjabkesari.in Monday, Jul 04, 2022 - 10:32 AM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : राजनीतिक फायदा लेने की चाहत से अग्नीपथ योजना के विरोध में उतरी कांग्रेस पर टिप्पणी करते हुए प्रदेश के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा है कि जनता की नब्ज को कांग्रेस नहीं समझती। कांग्रेस पार्टी भाजपा और मोदी के देशहित के सभी फैसलों के विरोध का फैसला कर चुकी है। धारा 370 की समाप्ति, वैक्सीनेशन, जीएसटी जैसे बेहतरीन देश हितेषी फैसला का विरोध कांग्रेस ने किया। अब अग्निपथ योजना के विरोध में चलने वाली कांग्रेस समाप्ति की ओर है।

उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव में कुलदीप बिश्नोई ने पहले ही अंतरात्मा से वोट करने का फैसला कर लिया था। उनके अलावा भी कांग्रेस का एक वोट जो रदद् हुआ उसकी जानकारी हाईकमान को है। टुकड़ों- टुकड़ों में बंटी कांग्रेस में किसी एक धड़े को प्रभुत्व मिलने से दूसरे सभी धडे नाराज हो जाते हैं। कांग्रेस को समाप्त करने के लिए किसी दूसरे की जरूरत नहीं है। खुद कांग्रेस के नेता ही इसे समाप्त करने में लगे हुए हैं। इसी कारण 31 विधायकों वाली कांग्रेस पार्टी राज्यसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी को नहीं जितवा पाई। खुद कांग्रेसियों ने जीत का रिजल्ट हार में बदल दिया। कांग्रेस में आज अनुशासन और नीति नहीं है। कांग्रेस जनहित की बजाए कुर्सी की लड़ाई लड़ रही है। हर प्रदेश में 5-5, 6-6 धड़ों में बंटी कांग्रेस दूसरे धड़े को मिला महत्व बर्दाश्त नहीं कर सकता। हाई लेवल से कमजोर हुई कांग्रेस आपस में लड़ रही है और भूपेंद्र सिंह हुड्डा का भी हाल अशोक तंवर और शैलजा की तरह का ही होगा।

जेपी दलाल ने 2024 विधानसभा चुनाव की चर्चा के दौरान कहा कि भाजपा हमेशा सेवक बन कर जनता की सेवा भाव के नजरिए से काम करती है। केंद्र और प्रदेश सरकार समय-समय पर जन हितेषी योजनाओं के साथ आगे बढ़ रही है। कोरोना वैक्सीन अनाज वितरण, सिलेंडर देने, शौचालय बनाने और किसानों की सहायता समेत समय-समय पर उठाए गए। कदमों से जनता खुश है और जनता ही फैसला करेगी कि किसे दोबारा मौका देना है। हरियाणा में आम आदमी पार्टी का कोई जनाधार नहीं है। झूठे -लुभावने नारे और वायदों से पंजाब की सत्ता पर काबिज हुई। आम आदमी पार्टी ने प्रत्येक महिला को 1000 रुपए प्रतिमाह देने की घोषणा की। लेकिन बजट पेश होने के बावजूद इस वायदे पर अमलीजामा नहीं पहनाया गया। यह लंबे वक्त की राजनीति के लक्षण नहीं है। खुद मुख्यमंत्री की घरेलू सीट से उपचुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी की हार होना निश्चित करता है कि पंजाब की जनता  आम आदमी पार्टी से खुश नहीं है।

नई विधानसभा के लिए प्रयासरत प्रदेश सरकार पर बात करते हुए दलाल ने कहा कि अगर हरियाणा को पंजाब उसका पूरा हक दे दे तो नई विधानसभा की जरूरत नहीं है। आज हरियाणा के मंत्रियों के लिए बैठने तक की भी उचित व्यवस्था नहीं है। प्रेस के  लोगों के लिए पर्याप्त जगह उपलब्ध नहीं हो पा रही। बहुत कम जगह में प्रदेश गुजारा करने को मजबूर है। पंजाब हरियाणा की काफी जगह पर कब्जा किए हुए हैं। पिरासिमन के बाद विधायकों की संख्या बढ़ने के बाद गुजारा करना संभव ही नहीं हो सकता। इसलिए यह एक बड़ी जरूरत है।

दलाल ने अपने कृषि विभाग पर बात करते हुए बताया कि वह और प्रदेश के मुख्यमंत्री हर समय किसान की चिंता करते हैं। प्रदेश सरकार समय-समय पर बेहतरीन स्कीम लेकर आई है। प्रदेश के किसानों के लिए बागवानी, भावांतर भरपाई योजना, मेरा पानी- मेरी विरासत, धान की सीधी बिजाई के लिए सीधा पैसा देना, मूंग की खेती करने वाले किसानों को सीधे पैसा देना, नई मंडियों का निर्माण करना यह साबित करता है कि हरियाणा सरकार जितना ध्यान कोई भी सरकार नहीं कर रही। हम किसानों को खेती की पुरानी विधियां अपनाकर जैविक और प्राकृतिक खेती की ओर अग्रसर करना चाहते हैं। जिसे लेकर हम गाय के लिए भी किसानों को सब्सिडी देंगे। जीवामृत के लिए ड्रम भी सरकार किसानों को देने की योजना बना चुकी है ताकि बिना पेस्टिसाइड (कीटनाशक दवाओं) के इस्तेमाल से अच्छी गुणवत्ता वाली फसल पैदा हो सके। कम से कम किसान अपने परिवार के लिए ऐसी फसलों का उत्पादन करें। कीटनाशक दवाओं से पैदा होने वाली बीमारियों से अपने परिवार की रक्षा करके अपने पैसे को डॉक्टर के पास जाने से रोक सके।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static