डिपो संचालक की करतूत, कमीशन के नाम पर प्रति कार्ड 2 किलो अनाज की करता है कटौती

punjabkesari.in Monday, Jun 13, 2022 - 09:29 PM (IST)

पलवल(दिनेश): वार्ड नंबर 26 में एक डिपो धारक द्वारा राशन कार्ड धारकों से कमीशन लेने का मामला सामने आया है। लोगों का आरोप है कि डिपो संचालक कमीशन के तौर पर प्रति राशन कार्ड 2 किलो अनाज की कटौती करता है। इस बात का खुलासा डिपो धारक के भाई ने भी किया है, जो खुद  इस खेल में शामिल है। लोगों ने कहा कि गरीब लोगों के अनाज में डाका डालने वाले आरोपी डिपो संचालक को सजा मिलनी चाहिए।

दरअसल पलवल के कोट वाडा कुम्हार मोहल्ला में महेंद्र कुमार एक डिपो चलाता है। इस डिपो से अनाज लेने वाले राशन कार्ड धारकों ने राशन वितरण में धांधली का आरोप लगाया है। राशन कार्ड धारकों का आरोप है कि डिपो धारक के द्वारा जबरन उनसे 2 किलो तक अनाज ले लिया जाता है। जब वह उसकी शिकायत करते हैं तो उनको धमकाया जाता है। इतना ही नहीं डिपो संचालक कार्ड धारकों का अंगूठा लगाकर मशीन से जो पर्ची निकालता है, उसे वह अपने पास ही रख लेता है। कार्ड धारकों को कागज पर पेन से लिखी हुई पर्ची थमा दी जाती है।

अनाज के ट्रांसपोर्ट के नाम पर वसूलता है कमीशन

महिलाओं ने बताया कि जब भी वह अनाज लेने के लिए आते हैं तो उनसे कहा जाता है कि ट्रांसपोर्ट का किराया और डिपो का किराया देने के लिए दो 2 किलो अनाज कम दिया जा रहा है। एक कार्ड धारक से 2 किलो की कटौती की जाती है। गांव के सैकड़ो कार्ड धारको इस डिपो से अनाज लेने आते हैं। हर कार्ड पर 2 किलो अनाज की कटौती कर आरोपी डिपो संचालक कई क्विंटल अनाज की धांधली कर रहा है। लोगों का कहना है कि खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा डिपो धारकों को अनाज वितरित करने और ट्रांसपोर्ट के लिए अलग से कमीशन दिया जाता है। इसके बावजूद आरोपी डिपो संचालक काफी समय से कमीशन के नाम पर गरीबों के अनाज में गड़बड़ी कर रहा है।

डिपो संचालक के भाई ने कबूली अनाज की कटौती की बात

 डिपो संचालक के भाई मनीष कुमार का कहना है कि उन्हें दुकान का किराया देना होता है। इसी के साथ अनाज के ट्रांसपोर्ट में भी खर्चा होता है। इसीलिए वे राशन कार्ड धारकों की अनुमति से 2 किलो तक अनाज कमीशन के रूप में अपने पास रखते हैं। मनीष ने अपने कबूल नामे में ही यह भी कहा है कि वह अपने भाई से मशीन चालू करा कर ले आते हैं। इसके बाद फिर यहां पर अनाज वितरित करते हैं और पिछले कई सालों से वह लोगों से अनाज रख रहे हैं

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static