इंटरनल असेसमेंट अंकों में गड़बड़ी पड़ेगी महंगी, जांच में दोषी पाए जाने पर मिलेगी ये सजा

1/19/2020 11:14:12 AM

फरीदाबाद (पूजा शर्मा): केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानि सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं बोर्ड के इंटरनल असेसमेंट के अंकों की जांच करेगा। अगर इस दौरान किसी प्रकार की गड़बड़ी पकड़ी गई तो ऐसे छात्र का एडमिट कार्ड बोर्ड रोक देगा। अगर एडमिट कार्ड जारी हो गया है तो बाद में पकड़ में आने पर रिजल्ट रोक दिया जाएगा। इस बात की जानकारी बोर्ड ने सभी स्कूलों को पत्र लिखकर दी है। ज्ञात हो कि एक्सटर्नल द्वारा प्रायोगिक परीक्षा ली जाती है, लेकिन कई बार प्रायोगिक परीक्षा अंक देने के बाद ओवरराइटिंग, व्हाइटनर आदि लगा कर अंकों को बदला जाता है। पिछले कई वर्षों में बोर्ड के पास ऐसे केस आए हैं। इसी को देखते हुए बोर्ड ने इस बार कड़ा रुख अख्तियार करते हुए ऐसा नियम बनाया है।

सीबीएसई ने स्कूलों को 12वीं कक्षा का इंटरनल असेसमेंट भेजने का आदेश दिया है। स्कूलों को 7 फरवरी तक इंटरनल एसेसमेंट भेजना है। बोर्ड की मानें तो जो स्कूल असेसमेंट में ओवरराइटिंग करेंगे तो ऐसे एसेसमेंट को बोर्ड द्वारा स्वीकार नहीं किया जाएगा। इसके अलावा इंटरनल असेसमेंट केवल ऑनलाइन ही स्वीकार किया जाएगा। ऑनलाइन इंटरनल एसेसमेंट के लिए स्कूल को अपना यूजर आईडी और पासवर्ड को इस्तेमाल करना होगा। ऑफलाइन भेजने पर छात्र का रोल नंबर बोर्ड द्वारा रोक दिया जाएगा।

8 अंकों का होगा रोल नंबर
इस बार सीबीएसई ने परीक्षा में सबसे बड़ा बदलाव किया है। विद्यार्थियों को 8 अंकों का रोल नंबर दिया गया है। परीक्षा हॉल में विद्यार्थियों को मिलने वाली आंसरशीट में रोल नंबर भरने के लिए 7 ही बॉक्स होंगे। ऐसे में 8 अंकों के रोल नंबर कैसे भरना है ये विद्यार्थियों के लिए जानना जरूरी है। विद्यार्थियों को ध्यान रखना होगा कि वे रोल नंबर लिखते समय पहला अंक बॉक्स के बाहर लिखेंगे। पहले अंक से संबंधित सर्कल भी दिए गए सर्कल्स से बाहर बाई तरफ बनाकर फिल करें। सीबीएसई बोर्ड ने 2019-20 के प्रैक्टिकल प्रक्रिया में भी बदलाव किया है।

बोर्ड ने मॉनीटरिंग पर सख्ती दिखाते हुए इस बार जियो टैग का सहारा लिया है। प्रैक्टिकल परीक्षा के दौरान 3 बार बोर्ड के पास लैब के फोटो भेजने होंगे। परीक्षा होते ही बोर्ड को विद्यार्थियों के अंक तुरंत भेजने होंगे। इसमें विद्यार्थियों, परीक्षकों और आब्जर्वर की उपस्थित दिखनी चाहिए। जिस सेंटर पर प्रैक्टिकल परीक्षा होगी उसमें परीक्षक पहुंचते ही जियो टैग के साथ बोर्ड को फोटो भेजनी होगी। जियो टैग से परीक्षक की सही लोकेशन का पता चलेगा।10वीं की परीक्षा समय सारिणी 10वीं कक्षा की परीक्षाएं 20 मार्च तक आयोजित होंगी। 26 फरवरी को अंग्रेजी, 29 फरवरी को हिंदी, 4 मार्च को विज्ञान, 7 मार्च को संस्कृत, 12 मार्च को गणित, 18 मार्च को समाजिक विज्ञान और 20 मार्च इंफोर्मेशन कम्यूनिकेशन टेक्नोलॉजी और कम्प्यूटर एप्लीकेश्न विषय की परीक्षा होगी।

12वीं की परीक्षा समय सारिणी 
परीक्षा कार्यक्रम के तहत 30 मार्च को 12वीं के छात्रों की अंतिम परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। 22 फरवरी से मनोविज्ञान, 27 फरवरी को अंग्रेजी, 2 मार्च को भौतिक विज्ञान, 3 मार्च को इतिहास, 5 मार्च को अकाउंटेंसी, 6 मार्च को राजनीतिक विज्ञान, 7 मार्च को रसायन विज्ञान,14 मार्च को जीव विज्ञान, 17 मार्च को गणित, 20 मार्च को हिंदी, 23 मार्च को भूगोल और 30 मार्च को समाजशास्त्र की परीक्षा होगी। 


Isha

Related News