पत्नी के वियोग में ‘दिलजले’ का जलवा, प्यार में सारी हदें की पार

11/12/2019 1:19:36 PM

पानीपत (संजीव नैन): फिल्म ‘दिलजले’ में अजय देवगन का एक प्रसिद्ध डायलॉग है आग दिल में लगी है, उसे दुनिया में लगा दूंगा मैं, जो तेरी डाली उठी, जमाने को जला दूंगा मैं....कुछ ऐसी ही दिल में आग इन दिनों एक शख्स के दिल में लगी है, जिसके चलते उसने संतरी से लेकर मंत्री तक को परेशान कर छोड़ा है। क्या मुख्यमंत्री निवास और क्या पानीपत पुलिस इस सिरफिरे के आतंक से बुरी तरह से परेशान हो चुके हैं। हालांकि पुलिस ने योजनाबद्ध तरीके से दिलजले को गिरफ्तार करके सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। लेकिन उसकी जो कहानी सामने आई है, उसने हर किसी को हैरत में डाल दिया है कि पत्नी से प्यार किसी इंसान को इस हद तक दिलजला भी बना सकता है।

किस्सा यूं बयां हैं कि कुछ समय पहले थाना मॉडल टाऊन क्षेत्र के अंतर्गत एक युवक विनोद अपनी पत्नी सहित रहता था। बाद में उसकी पत्नी एक व्यक्ति के साथ भाग गई थी। जिसकी सूचना युवक ने पुलिस को दी थी। पुलिस ने केस दर्ज करते हुए महिला को उसके प्रेमी सहित गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन महिला ने अपने पति के साथ जाने से इंकार करते हुए आरोपी के साथ ही जाने की इज्छा व्यक्त की थी। चूंकि महिला बालिग थी इसीलिए पुलिस ने आरोपी के खिलाफ किसी भी प्रकार की कानूनी कार्रवाई करने से साफ तौर पर इंकार करते हुए केस बंद कर दिया था। वहीं दूसरी ओर युवक जब पत्नी को सामने पाकर भी हासिल नहीं कर पाया तो उसने इसके लिए प्रशासन, सरकार व सिस्टम को जिम्मेदार मान लिया तथा बदले की आग को मन में लेकर पानीपत छोड़कर उत्तर प्रदेश चला गया तथा वहीं रहने लगा।

दिलजले के दिल में भड़की आग के चलते न केवल थाना मॉडल टाऊन पुलिस को बार-बार फोन करके परेशान करना शुरू कर दिया, बल्कि पुलिस के आला अधिकारियों व सी.एम. हाऊस के लैंडलाईन नम्बरों पर फोन करके कर्मियों को परेशान करना शुरू कर दिया। कानून के रखवालों से लेकर हर कोई इस बार-बार फोन आने से अच्छे खासे परेशान हो गए। पुलिस वालों ने नम्बर पहचान कर फोन को उठाना या होल्ड पर रखना शुरू कर दिया।

थाने में राऊंड पर भी आता था आरोपी

युवक विनोद को एक ही धुन सवार रहती थी कि किसी भी प्रकार से उसकी पत्नी को भगाकर ले जाने वाला शख्स कानून की गिरफ्त में आ जाए। वह अक्सर इस आस में थाना मॉडल टाऊन भी पहुंचता था कि शायद वह शख्स गिरफ्तार हो गया हो। युवक थाने के कैदखाने में राउंड लगाने भी आने लगा तथा पूरे थाने में बारीकी से निरीक्षण करके जाता था। वहां से जाते-जाते युवक थाने के बाहर खुली चाय की दुकान पर चाय भी पीता और बाद में वहीं खड़े होकर थाने के नम्बर पर अपने मोबाइल से फोन करके पुलिस कर्मियों को परेशान भी करता था।

इंटरनैट से देखता था नम्बर
पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने पर युवक ने खुलासा किया कि उसने हरियाणा के डी.जी.पी., आई.जी. व पुलिस के अन्य उच्चाधिकारियों, सी.एम. हाऊस व आफिस के नम्बर इंटरनैट पर सर्च करके तलाशे हैं। पत्नी की याद आने पर जब भी वह परेशान होता था तो उक्त नम्बरों पर फोन करता था। उसे सरकार, सिस्टम व प्रशासन से शिकायत थी कि सब मिलकर भी उसकी पत्नी को वापस नहीं दिलवा पाए। इसीलिए उसे इन सभी को परेशान करने में सकून मिलता था। उसका फोन करने का कोई निश्चित समय नहीं था। जब भी वह परेशान होता तो जिसका नम्बर सामने आता उसे ही फोन मिला देता।

पहले मेरी बीबी को लाओ...
बार-बार फोन आने से परेशान अधिकारियों ने तुरन्त थाना मॉडल टाऊन प्रभारी को आदेश दिए कि आरोपी को जल्द से जल्द अरैस्ट किया जाए, बार-बार फोन करके थाने व अन्य जगहों के फोन बीजी करके जनता को परेशान होने से बचाया जा सके। जिस पर पुलिस सक्रिय हुई। जब पुलिस ने आरोपी के मोबाइल पर फोन करके उसके ठिकाने के बारे में जानकारी लेनी चाही तो आरोपी युवक ने स्पष्ट कहा कि पहले मेरी बीबी को लाकर दो। जिसका इस नम्बर पर पता लग जाएगा। जब पुलिस ने आरोपी द्वारा उपलब्ध करवाए नम्बर पर सम्पर्क किया तो वह सी.एम. कार्यालय का निकला। जिसे देखकर पुलिस के भी कान खड़े हो गए। हालांकि बाद में पुलिस ने जाल बिछाकर आरोपी को धर दबोचा।


Isha

Related News