सभी को तनाव से जूझना पड़ता है, लेकिन इससे कैसे मुकाबला करें, यह एक खास विषय: डाॅ. सुरेंदर

punjabkesari.in Wednesday, Jun 29, 2022 - 03:15 PM (IST)

डेस्क: डाॅ. सुरेंदर (योग गुरू, संस्थापक, योग संजीवनी एवं बून वेलनेस)  ने बताया कि  हम सभी को तनाव से जूझना पड़ता है, लेकिन इससे कैसे मुकाबला करें, यह एक खास विषय है। उन्होंने बताया कि योग माइंड-बाॅडी प्रैक्टिस है जिसमें शारीरिक अभ्यास, सांसों पर नियंत्रण और ध्यान एवं आरामदायक मुद्रा शामिल है। योग से आपको तनाव घटाने, ब्लड प्रेशर कम करने और अपनी दिल की धड़कन कम करने में मदद मिल सकती है। साथ ही हर कोई इसे कर सकता है। 

तनाव दूर करने के लिए योग आसान

सुखासन (इजी पोज): सुखासन आपकी रीढ़ और कूल्हे को मजबूत बनाएगा। यह आसन पोस्टुरल अवेयरनेस में भी सुधार ला सकता है, ध्यान प्रक्रियाओं के लिए आधार तैयार कर सकता है और तनाव को दूर करने में मदद कर सकता है।


बालासन (चाइल्ड पोज): बालासन योग या आसन से छाती में किसी तरह के तनाव को दूर करने में मदद मिलती है। इस आसन से आपको तनाव की समस्या से छुटकारा मिलता है, क्योंकि आप अपनी सांसों को पुनः छोड़ते और भरते हैं और अपना ध्यान नीचे की तरफ रखते हैं तथा स्वाभाविक तौर पर यह आपको अधिक ऊर्जावान बनाता है।


पश्चिमोत्तासन (सीटेड फाॅर्वर्ड बेंड): यह आसन आपकी रीढ़, कंधे और घुटने के पिछले हिस्से में लचीलापन आता है। इससे लीवर, किडनी, ओवरी और अटेरस को भी मदद मिलती है जिससे पाचन प्रक्रिया मजबूत हो सकती है। आनंद बालासन (हैप्पी बेबी पोज): यह आसन कमर के पिछले हिस्से में होने वाले दर्द में कमी लाने में मददगार साबित हो सकता है। दिमाग को सुकून पहुंचाता है। तनाव और अवसाद दूर करने में मदद करता है। उत्तानासन (स्टैंडिंग फाॅर्वर्ड बेंड): उत्तानासन ऐसा सामान्य आसन है जो पेट से जुड़े अंगों की मालिश का काम करता है, आपके तंत्रिका तंत्र को शांत रखता है और आपके पीछे के बाॅडी में खिंचाव लाता है।


विश्राम के लाभ
 डाॅ. सुरेंदर ने कहा कि विश्राम या आराम आपके लिए अच्छा है। आराम का आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है और आपके व्यस्त दिनों में इससे काफी मदद मिल सकती है। यहां निरंतर आराम के कुछ खास लाभ के बारे में बताया जा रहा हैः
 
आपकी दिल की धड़कन और सांसों की गति को नियंत्रित रखना

  1.  पाचन में सुधार लाना
  2.  मांसपेशियों के दर्द एवं ऐंठन में कमी लाना
  3.  भयंकर दर्द में कमी लाना
  4.  ऊर्जा स्तर बढ़ाना
  5.  सोने की अवधि और नींद की गुणवत्ता में सुधार लाना
  6.  भावनात्मक और शारीरिक स्वास्थ्य की संपूर्ण भावनाओं में इजाफा करना

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static