गृह जिलों में होगी HTET परीक्षा, भावी अध्यापकाें को नहीं जाना पड़ेगा 50 किमी दूर(VIDEO)

11/7/2019 9:05:11 PM

भिवानी(अशोक): भावी अध्यापक की परीक्षा देने वाले 2 लाख 83 हजार परीक्षार्थियों के लिए खुशखबरी है। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने पहली बार एचटेट परीक्षा गृह जिलों में करने का बड़ा फैसला लिया है। शिक्षा बोर्ड सचिव राजिव प्रसाद ने इसकी पुष्टी करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा एचएसएससी की परीक्षाओं में हुई दुर्घटनाओं के बाद की गई घोषणा के बाद ये फैसला लिया गया है।

बता दें कि हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड हर साल भावी अध्यापकों यानि एचटेट की परीक्षा लेता है। ये परीक्षा पूरे प्रदेश में होती है और लाखों भावी अध्यापक इस परीक्षा को देने के लिए सूबे के एक कौने से दूसरे कौने में जाते थे। इस दौरान परीक्षार्थियों को यातायात के साथ ठहरने को लेकर भी बड़ी परेशानी उठानी पड़ती थी। भीड़ के चलते हुई दुर्घटनाओं में कई परीक्षार्थियों को जान गवानी पड़ी। इससे सबक लेते हुए सीएम मनोहर लाल ने भविष्य में होने वाली एचटेट परीक्षा को गृह जिलों में करवाने का एलान किया था।

PunjabKesari, पोीबोलो

सीएम मनोहरलाल की इस घोषणा पर शिक्षा बोर्ड ने 16 व 17 नवंबर को होने वाली एचटेट परीक्षाओं को गृह जिलों में करवाने की पूरी तैयारी कर ली है। बोर्ड सचिव राजिव प्रसाद ने बताया कि शिक्षा बोर्ड पहली बार एचटेट परीक्षा गृह जिलों में आयोजित करवाने जा रहा है। उन्होंने बताया कि इसके तहत किसी भी परीक्षार्थी को इस बार 50 किलोमीटर से दूर परीक्षा केंद्र पर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि इस बार 2 लाख 83 हजार परीक्षार्थी एचटेट परीक्षा देंगें, जिनके एडमीट कार्ड 8 नवंबर से ऑॅनलाईन हो रहे हैं।

बोर्ड सचिव राजीव प्रसाद ने बताया कि इस बार लेवल-3 की परीक्षा 16 नवंबर को शांम तीन बजे से साढ़े पांच बजे तक होगी। वहीं लेवल-2 की परीक्षा 17 नवंबर को सुबह 10 बजे से दोपहर साढ़े 12 बजे तक और लेवल-1 की परीक्षा इसी दिन शाम तीन बजे से साढ़े पांच बजे तक होगी। उन्होंने बताया कि इन परीक्षाओं के लिए प्रदेश भर के 22 जिलों के साथ बहादुरगढ़ व महेन्द्रगढ़ दो सब डविजनों में तीनों लेवल के लिए 959 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। 

PunjabKesari, पोीबोलो

उन्होंने बताया कि इन परीक्षाओं को नकल रहीत व बिना किसी बाधा के करवाने के लिए हर परीक्षा केंद्र में सीसीटीवी लगाए गए हैं और परीक्षा केंद्र के बाहर वीडियोग्राफी भी करवाई जाएगी। साथ ही बताया कि परीक्षा केंद्र में महिलाओं को मंगल सुत्र व सिखों को धार्मिक चिन्ह के अलावा कोई जैवर पहन कर जाने पर मनाही होगी।

बता दें कि खुद सीएम ने इस बार एचटेट परीक्षा करवाने का दावा किया था। इसके बाद शिक्षा बोर्ड ने गृह जिलों में परीक्षा करवाने की पूरी तैयारियां कर ली हैं। पर पहली बार गृह जिलों में होने वाली इन परीक्षाओं को नकल रहीत और बिना किसी बाधा के करवाना खुद बोर्ड के लिए एक बड़ी परीक्षा है। हालांकी बोर्ड सचिव इस परीक्षा में पास होने का पुख्ता दावा करते हैं, पर समय ही बताएगा कि परीक्षार्थियों की सुविधा बोर्ड पर कितनी भारी पड़ती है और बोर्ड इस भार को कितनी आसानी से सहन करता है।


Edited By

vinod kumar

Related News