किसान आंदोलन : संसद पर प्रदर्शन के लिए पहुंचेंगे 22 राज्यों के किसान

7/16/2021 10:38:53 AM

सोनीपत (दीक्षित): संयुक्त किसान मोर्चा ने मानसून सत्र दौरान संसद मार्च को प्रभावी बनाने का निर्णय लिया है।  रोजाना संसद के बाहर प्रदर्शन के लिए 200 किसान पहुंचेंगे।  किसान मोर्चा ने तय किया कि 22 जुलाइ से शुरू होने वाले मानसून सत्र दौरान संसद के बाहर प्रदर्शन के लिए अलग-अलग दिन 22 राज्यों के किसान हिस्सा लेंगे। साथ ही महिलाओं का पैदल मार्च 26 जुलाई को निकाला जाएगा जिसके लिए अभी से महिलाओं के जत्थे सिंघू बॉर्डर समेत सभी धरनास्थलों पर पहुंचने शुरू हो गए हैं। किसान मोर्चा का समर्थन करने के लिए वीरवार को सिंघू बॉर्डर पर प्रख्यात पंजाब गायक बब्बू मान, अभिनेत्री गुलपनाग के अलावा अमितोज मान व अन्य कई कलाकार पहुंचे। 

संयुक्त किसान मोर्चा ने तय किया है कि संसद के किसान संसद के बाहर प्रदर्शन कर अपनी मांगों की तरफ सरकार व विपक्ष का ध्यान आकर्षित करेंगे। किसान नेताओं ने बताया कि अब तक यह तय हो चुका है कि लगातार 21 दिनों तक चलने वाले मानसून सत्र दौरान प्रदर्शन में पंजाब व हरियाणा के किसानों के अलावा तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, असम, त्रिपुरा, मणिपुर, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान से किसान भाग लेंगे। 

26 जुलाई और 9 अगस्त को महिला किसानों के विशेष मार्च में उत्तर-पूर्वी राज्यों सहित पूरे भारत से महिला किसानों और नेताओं की बड़ी संख्या में भागीदारी होगी। मोर्चा का दावा है कि देश के सांसद पूरे भारत के किसानों को अपनी मांगों को रखने और अपनी आवाज सुनाने के लिए अनुशासित तरीके से संसद तक मार्च करते देखेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static