सिरसा में किसानों ने भरी हुंकार, बोले फिर से शुरू करेंगे बड़ा आंदोलन

punjabkesari.in Friday, May 20, 2022 - 10:52 PM (IST)

सिरसा(सतनाम): जिले में आज एक बार फिर किसानों ने हुंकार भरी। अलग-अलग जगहों से आए हुए किसान जाट धर्मशाला में एकत्रित हुए और अपनी मांगों को लेकर बैठक की। बैठक के बाद किसानों ने  उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला के निवास की ओर पैदल कूच किया और सरकार  के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। शहर के भुम्मण शाह चौक पर पुलिस ने उन्हें बैरिगेट्स लगाकर रोक दिया। गुस्साए किसानों ने चेतावनी देते हुए कहा कि आज वें यहां केवल बात करने आए थे। लेकिन यदि जल्द ही उनकी मांगे पूरी नहीं हुई तो किसान गांव-गांव जाकर लोगो को जागरूक करेंगे और फिर से एक बड़ा आंदोलन खड़ा करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार अपने वायदे से मुकर रही है। ना तो किसानो पर दर्ज़ मुकदमे वापस लिए गए और ना ही एमएसपी पर गारंटी कानून बनाने को लेकर कोई बातचीत हो रही है। 

मनदीप नथवान ने बताया कि उनकी मांगे हैं, कि उन्हें गेहूं पर बोनस मिले, किसानो पर दर्ज़ मुकदमे वापस हो, एमएसपी पर गारंटी कानून बने, किसानो को उनकी खराब हुई फसलों का उचित मुआवजा मिले। सरकार अपने वायदे से मुकर रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने बैरिगेट्स लगाकर उन्हें रोक रखा है और महिला पुलिस को आगे खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि दुष्यंत चौटाला की दुकान अब बंद होने वाली है, क्योंकि आने वाले समय में जेजेपी को एक भी सीट नहीं मिलेगी। दुष्यंत चौटाला खट्टर को गालियां निकाल कर जीते थे और सत्ता के लालच में उन्ही के साथ मिल गए हैं। उन्होंने कहा कि अक्टूबर 2020 में वें यहां आए थे। तब भी उनके उपर वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया था और आज भी यह रास्ता बंद कर दिया गया है। उस समय भी एक बड़ा आंदोलन शुरू हुआ था और अब भी वो गांव गांव जाकर लोगो को जागरूक करेंगे और एक बड़े आंदोलन की शुरुआत करेंगे। 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static