उम्मीदों के अनुरूप नहीं रहा राज्यपाल का अभिभाषण : गीता भुक्कल

punjabkesari.in Thursday, Mar 03, 2022 - 02:56 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : बजट सत्र की शुरुआत राज्यपाल के अभिभाषण से अवश्य हुई लेकिन अभिभाषण से विपक्ष कितना संतुष्ट नजर आया, इस बारे पूर्व शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल से बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि सरकार की  खास उपलब्धियां  इसमें नजर नहीं आई। हमें उम्मीद थी कि बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार को लेकर घोषणाएं होंगी, बेरोजगारी भत्ते में बढ़ोतरी होगी, किसानों की स्पेशल गिरदावरी के आदेश होंगे, खराब फसलों के मुआवजे बढ़ाकर मिलने जैसी घोषणाएं होंगी, एजुकेशन इंस्टिट्यूट को लेकर कुछ नया होगा, लेकिन ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिला। सबका साथ- सबका विकास- सबका विश्वास कहीं नजर नहीं आया।

कांग्रेसी विधायकों के विधानसभा क्षेत्रों के साथ भेदभाव नजर आया। लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बद से बदतर है। नए मेडिकल कॉलेज खोलने की केवल चर्चा ही रह गई। पुराने मेडिकल कॉलेजों में स्टाफ नहीं है। हमारे बच्चे यूक्रेन में मेडिकल की शिक्षा पाने के लिए गए और वहां फंसे हुए हैं। भुक्कल ने कहा कि हर जिले में मेडिकल कॉलेज की घोषणाएं जरूर हुई है, लेकिन केवल बिल्डिंग नहीं चाहिए। उनमें प्रोफेसर- डायरेक्टर- एसोसिएट प्रोफेसर की नियुक्ति होनी चाहिए। मेडिकल सीटों का बढ़ाया जाना चाहिए। इसकी चर्चा राज्यपाल के अभिभाषण में होनी चाहिए थी।

भुक्कल ने कहा कि हम मंदिर बनाने के खिलाफ नहीं। लेकिन अच्छे शिक्षण संस्थान, अच्छे मेडिकल इंस्टीट्यूट, अच्छे अस्पताल डॉक्टरों की पूरी संख्या पैरामेडिकल स्टाफ की कमी को दूर करना भी चाहते हैं। नर्सिंग कॉलेज, मेडिकल कॉलेज खोले जाने चाहिए ताकि हरियाणा के बच्चे इस फील्ड में भी अपना नाम चमका सकें। आज महंगाई पेट्रोल- डीजल- रसोई गैस- खाने के तेल इत्यादि में लगातार बढ़ रही है। इंडस्ट्री बंद हो रही है। रोजगार छिन रहे हैं। इसलिए प्रदेश सरकार को बेरोजगारी भत्ता में बढ़ोतरी करनी चाहिए।

सक्षम के तहत प्रदेश के युवाओं को रोजगार दिया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री से अपील है कि रोजगार के पोर्टल खोलें। स्मॉल एंड मीडियम इंडस्ट्री के लिए युवाओं को सस्ती दरों पर लोन दें ताकि प्रदेश का युवा अपने पैरों पर खड़ा हो सके। मुख्यमंत्री को स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं की तरफ ध्यान देते हुए रिक्त पड़े डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ के पदों को अतिशीघ्र भरना चाहिए। चाहे भर्ती का माध्यम एचपीएससी हो या किसी और तरीके से जल्द से जल्द बच्चों को रोजगार देना चाहिए। नूंह मेवात इत्यादि क्षेत्रों में स्पेशल सुविधाएं देनी चाहिए।

भुक्कल ने कहा आज प्रदेश के रोडवेज बेड़े में लगातार बसों की संख्या कम हुई है। नई बसें शामिल की जानी चाहिए। बहन बेटियों के लिए अलग से ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा की व्यवस्था होनी चाहिए। सरकार को लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बेहतर बनानी चाहिए। बीबीएमबी मुद्दे पर पूर्व मंत्री गीता भुक्कल ने कहा कि इस मामले में पहले भी इस प्रकार की कटौती हुई सरकार ने विरोध नहीं किया। जिस कारण से केंद्र ने यह फैसला लिया। यह हरियाणा के हकों पर कुठाराघात है। सरकार लड़ाई लड़नी चाहिए। कांग्रेस पार्टी सरकार के साथ है। नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने सर्वदलीय मीटिंग बुलाकर सलाह लेने की बात कही है। हरियाणा के हक का पानी हरियाणा के हाथ से नहीं जाना चाहिए यह कांग्रेस की यह सोच है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static