हरियाणा सरकार ने गणतंत्र दिवस समारोह में किया बदलाव, राज्यपाल अब यहां फहराएंगे झंडा

punjabkesari.in Sunday, Jan 24, 2021 - 02:27 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी): केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का अाक्रोश बढ़ता जा रहा है। किसानों ने आंदोलन को तेज करते हुए 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालने का ऐलान किया हुआ है। इसी को देखते हुए अब हरियाणा सरकार ने गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में बदलाव किया है। राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य अब पंचकूला की बजाय राजभवन में तिरंगा फहराएंगे।

सीआइडी की रिपोर्ट के मुताबिक पानीपत में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के कार्यक्रम में कुछ किसान संगठन खलल डाल सकते हैं, जिसके चलते पूरी संभावना है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पंचकूला में मुख्य अतिथि बनाया जाए, क्योंकि यहां आंदोलन का प्रभाव कम है। हालांकि कल पानीपत प्रशासन और किसानों के बीच बैठक हुई थी। इस मीटिंग से बाहर आने के बाद किसानों ने बताया था कि वह किसी भी गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम का विरोध नहीं करेंगे। उन्होंने बताया कि संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों ने साफ कर दिया है कि वह किसी भी कार्यक्रम का विरोध नहीं करेंगे। क्योंकि यह राष्ट्र के गौरव का कार्यक्रम है। 

इसी के साथ अंबाला में मुख्य अतिथि बने उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के कार्यक्रम में बदलाव हो सकता है। वहीं इसके अलावा विधानसभा उपाध्यक्ष रणबीर सिंह गंगवा महेंद्रगढ़, शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुरुग्राम, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा रेवाड़ी, कृषि मंत्री दलाल रोहतक, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओम प्रकाश यादव झज्जर, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कमलेश ढांडा फतेहाबाद में ध्वज फहराएंगे। स्वास्थ्य लाभ ले रहे गृहमंत्री अनिल विज किसी कार्यक्रम में मुख्य अतिथि नहीं होंगे। 26 जनवरी की शाम राजभवन में एट होम कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

vinod kumar

Related News

Recommended News

static