बच्चों के शैक्षणिक सिलेबस को कम कर सकती है हरियाणा सरकार, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

punjabkesari.in Thursday, Sep 03, 2020 - 04:59 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी): हरियाणा के शिक्षा व पर्यटन मंत्री कंवर पाल गुज्जर ने कहा है कि कंवर पाल गुज्जर ने कहा कि प्रदेश सरकार केंद्र सरकार के आदेशों के बाद ही स्कूलों में शिक्षा शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा है कि स्कूल खुलने चाहिए, हरियाणा में 10वीं, 11वीं, 12वीं के स्कूल 3-4 में गांव में एक स्कूल हैं। इसमें 50 प्रतिशत बच्चे सुबह व 50 प्रतिशत शाम को या एक दिन छोड़ कर बुलाकर व सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए स्कूल खोले जा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि अधिकारियों के सफल प्रयासों से ऑनलाइन शिक्षा चल रही है। जिसमें हरियाणा भी अन्य राज्यों की तुलना में सकारात्मक भूमिका निभा रहा है। आने वाले समय में अगर आवश्यक समझा गया तो सभी क्लासों के शैक्षणिक सिलेबस को भी कम किया जा सकता है।

मंत्री गुर्जर ने बताया कि हरियाणा के जो पर्यटन स्थल बढिय़ा लोकेशन पर हैं, उन्हें पीपी मोड पर चलाने पर सरकार मंथन कर रही है। गुज्जर ने कहा कि फिलहाल सरकार पर्यटन स्थलों व कॉम्प्लेक्स को रेंट पर नहीं देगी। पिछले काफी अरसे से पर्यटन स्थल घाटे का कारण हैं, पिछले 6 माह से तो कोरोना के कारण व उससे पहले भी टूरिस्ट प्लेसिस आर्थिक क्षति में चल रहे हैं।

गुज्जर ने कहा कि हरियाणा टूरिज्म को कम्पीटिशन के इस समय में ढालने के लिए व्यवसायीकरण में लाने के लिए नियम व इच्छाएं समय अनुसार बदलनी होंगी। पर्यटन स्थल व कॉम्प्लेक्स प्रॉफिट में अगर पीपी मोड में लाकर चल सकते हैं, तो उस पर भी सरकार मंथन कर रही है।

गुज्जर का मानना है कि किसी जमाने मे पर्यटन स्थल व कॉम्प्लेक्स प्रॉफिट का कारण थे। जैसे जैसे वक्त ने रफ्तार पकड़ी टूरिज्म में भी प्रतिस्पर्धा के कारण प्राइवेट सेक्टर की तरफ पर्यटकों का रुझान बढ़ा है। बदलते परिवेश में हरियाणा सरकार भी पीपी मोड पर इन्हें चलाने पर सोच-विचार कर रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Shivam

Related News

Recommended News

static