कोविड से लड़ने में हरियाणा को मिल रही दिल्ली से बड़ी चुनौती

7/2/2020 9:02:46 AM

चंडीगढ़ (अविनाश पांडेय) : हरियाणा में अनलॉक-1 दौरान तेजी से बढ़े कोरोना संक्रमण की असल वजह दिल्ली रही है। दिल्ली के संक्रमण से कोविड की लड़ाई में प्रदेश को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में 431 संक्रमित लोग दिल्ली से आए। यहीं टैस्ट हुए और पॉजिटिव पाए गए। इसके अलावा महाराष्ट्र से 89, यू.पी. से 51 और गुजरात से 15 लोग संक्रमित पाए गए। मौजूदा समय में 10 जिलों में पॉजिटिव दर 2 फीसदी से कम है जबकि दिल्ली के साथ लगते तीन जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद व सोनीपत में 68 फीसदी है।

मसलन फरीदाबाद में 15.6 फीसदी, गुरुग्राम में 13.4 फीसदी, सोनीपत में 6.6 फीसदी, भिवानी में 5.9 फीसदी और रेवाड़ी 5.8 फीसदी पाजिटिव केस हैं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एन.सी.आर.) के सोनीपत, झज्जर और रोहतक जिलों में सब्जी व्यापारियों व कमीशन एजैंटों में दिल्ली की ट्रैवल हिस्ट्री पाई गई थी। हरियाणा सरकार भी बार-बार एन.सी.आर. में कोरोना फैलने के पीछे दिल्ली को ही जिम्मेदार ठहरा रही है। 

इसी वजह से दो बार दिल्ली बार्डर सील किया गया था। गुरुग्राम व फरीदाबाद जिलों से हर रोज हजारों प्रोफैशनल दिल्ली एवं हरियाणा आते-जाते रहते हैं जिस कारण संक्रमण रोकना मुश्किल हो गया है। खास बात यह भी है कि दिल्ली के अधिकांश लोगों का इलाज फरीदाबाद व गुरुग्राम में चल रहा है। उनका टैस्ट भी उक्त जिलों की निजी लैब में हुआ है, जो हरियाणा सरकार के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। 

 


Edited By

Manisha rana

Related News