ऑक्सीजन कमी से मौत मामले में हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान, 15 दिन में रिपोर्ट की तलब

2021-06-10T10:02:25.54

रेवाड़ी (योगेंद्र सिंह) : कोरोना महामारी में सरकुलर रोड स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल में कथित ऑक्सीजन की कमी से 4 मरीजों की मौत मामले में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया है। हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ने राज्य स्वास्थ्य महानिदेशक को जांच के आदेश देकर 15 दिन में रिपोर्ट पेश करने को कहा है। इसके पहले इसी मामले में मानवाधिकार आयोग ने भी जवाब तलब किया था। दूसरी ओर जिला प्रशासन द्वारा मामले की जांच के लिए गठित कमेटी की रिपोर्ट करीब सवा माह बाद भी तैयार नहीं हुई है।

मालूम हो कि 25 अप्रैल को उक्त प्राइवेट हॉस्पिटल की ओर से कहा गया था कि ऑक्सीजन खत्म हो गई है। इस पर लोगों ने जमकर हंगामा बरपा था और उधर हॉस्पिटल में चार मरीजों की मौत हो गई थी। हॉस्पिटल प्रंबधन का कहना था कि पानीपत से सप्लाई आने के बावजूद उन्हें ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं दी गई वहीं  बावल में सप्लायर के पास भी ऑक्सीजन के लिए गाड़ी भेजी लेकिन ट्रक को अचानक रोक दिया गया। प्रदेश सरकार के पास भी मामला पहुंचा और आक्रोशित लोग कार्रवाई केलिए प्रशासन पर लगातार दबाव बनाने लगे। इस पर डीसी यशेंद्र सिंह ने एडीसी की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया। 48 घंटे में रिपोर्ट देने को कहा गया लेकिन अभी तक कमेटी की फाइनल रिपोर्ट तैयार नहीं हुई है।

साफ है कि अधिकारी इस मामले को लेकर लापरवाही बरत रहे हैं। जबकि इतने संवेदनशील मामले की तुरंत जांच उपरांत दोषी पर कार्रवाई की  जाना चाहिए। संभवत : इसी के चलते मानवाधिकार आयोग ने जांच रिपोर्ट तलब की है, तो अब हाईकोर्ट ने भी इस मामले में जवाब तलब किया है। हाईकोर्ट के निर्देश के बाद राज्य स्वास्थ्य महानिदेशक ने सिविल सर्जन को पत्र जारी कर एक पखवाड़े में रिपोर्ट पेश करने को कहा है। वहीं दूसरी ओर वकीलों ने इस मामले की सीबीआई से जांच कराने को लेकर भी पत्र लिखे हैं।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static