उमस भरी गर्मी ने लोगों को किया बेहाल, 4 जुलाई से फिर हो सकता है मानसून

7/2/2020 10:46:24 AM

सोनीपत : जिले में समय से पहले दस्तक देकर असक्रिय हुए मानसून ने जिला वासियों की परेशानी बढ़ा दी है। आलम यह है कि पिछले तीन दिनों से जिले में लोगों को जबरदस्त गर्मी का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार को भी उमस की मात्रा अधिक होने की वजह से घरों के अंदर  पंखों के नीचे भी लोग पसीनों में नहाते रहे। वहीं मौसम विभाग की मानें तो अगले तीन दिनों तक गर्मी और उमस का लोगों को सामना करना पड़ेगा। हालांकि उसके बाद 4 जुलाई से मानसून के सक्रिय होने की सम्भावना है। बरसात के बाद लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। 

बुधवार को 37 डिग्री दर्ज किया गया अधिकतम तापमान
बुधवार को जिले में दिन का अधिकतम तापमान 37 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि न्यूनतम तापमान भी 29 डिग्री रहा। परन्तु उमस की वजह से 37 डिग्री सेल्सियस तापमान पर भी लोगों को 45 डिग्री जैसी गर्मी महसूस हुई। सुबह से ही हवाओं की गति धीमी होने की वजह से लोगों के पसीने छूटते रहे। गर्मी की वजह से बिजली की खपत भी बढ़ गई।

धान की रोपाई तेज, किसानों को बरसात का इंतजार
जिलें में इस बार कृषि विभाग द्वारा 95 हजार हैक्टेयर भूमि में धान की रोपाई और बिजाई करने का लक्ष्य रखा है। बड़ी संख्या में किसान अब धान की रोपाई प्रक्रिया में जुट गए है। चंद दिनों के अंदर ही जिले में करीब 10 हजार हैक्टेयर भूमि में धान की रोपाई की जा चुकी है। किसानों को बरसात का इंतजार है। बरसात होते ही धान की रोपाई प्रक्रिया में और अधिक तेजी आएगी। जिला कृषि उपनिदेशक  अनिल सहरावत ने बताया कि 4 जुलाई से फिर से मानसून के सक्रिय होने की उम्मीद जताई जा रही है। अच्छी बरसात होने पर धान के साथ-साथ ज्वार आदि हरे चारे की फसलों को भी काफी फायदा पहुंचेगा। किसानों को जल संरक्षण के प्रति भी लगातार जागरुक किया जा रहा है।  
 


Edited By

Manisha rana

Related News