किसानों को फसल विविधीकरण की ओर होना होगा अग्रसर, इसलिए तैयार की योजना: खट्टर

5/26/2020 11:16:30 PM

कुरुक्षेत्र (रणदीप रोड़): हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को कुरुक्षेत्र के किसानों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने 'मेरा पानी- मेरी विरासत' योजना के उद्देश्य को खुले रूप से किसानों के समक्ष रखा। मुख्यमंत्री मनोहर का कहना है कि किसानों को प्रेरित किया जा रहा है कि पानी को बचाना है और इसके लिए किसानों को फसल विविधिकरण की तरफ अग्रसर होना होगा। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने मेरा पानी मेरी विरासत योजना तैयार की है। इस योजना के तहत मक्का, दाले, सब्जियां, बाजरा, कपास सहित अन्य कुछ फसले लगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। सरकार इन फसलों का एमएसपी पर एक-एक दाना खरीदेगी और मक्का लगाने पर 7 हजार रुपए प्रति एकड़ अनुदान राशि भी दी जाएगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल पिपली पैराकीट के सभागार में भूजल स्तर में सुधार लाने और पानी को बचाने जैसे गम्भीर विषयों को लेकर कुरुक्षेत्र के किसानों से फीडबैक लेने पहुंचे थे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बहुमूल्य पानी को बचाने का लक्ष्य लेकर सरकार नीतियां बना रही है। इन नीतियों को बेहतर बनाने और धरातल पर अमलीजामा पहनाने के साथ-साथ पानी बचाने जैसे अच्छे परिणाम लाने के लिए किसानों से सुझाव और फीडबैक लिया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकार ने पानी बचाने के लिए फसल विविधिकरण के तहत मेरा पानी मेरी विरासत योजना तैयार की है। इस योजना के तहत कुरुक्षेत्र जिले के पिपली, शाहबाद, बाबैन और इस्माईलाबाद ब्लाक को शामिल किया गया है, क्योंकि इन खंडों में भूजल स्तर 40 मीटर से ज्यादा नीचे चला गया है, हालांकि प्रदेश में फतेहाबाद के रतिया ब्लाक, कैथल के सीवन व गुहला, सिरसा के सिरसा ब्लाक को शामिल किया गया है। इन ब्लाकों में भूजल स्तर की स्थिति बहुत चिंताजनक है।


Shivam

Related News