मानसून कभी भी दस्तक दे सकता है, यमुना के साथ लगते इलाकों में बाढ़ रोकथाम कार्य अधूरा

punjabkesari.in Wednesday, Jun 23, 2021 - 11:40 AM (IST)

यमुनानगर( सुरेंद्र मेहता): हरियाणा में मानसून कभी भी दस्तक दे सकता है। हरियाणा के यमुना के साथ लगते इलाकों में बाढ़ रोकथाम कार्य अभी पूरे नहीं हुए हैं। यमुनानगर के उपायुक्त विभिन्न अधिकारियों की टीमों के साथ बाढ़ रोकथाम कार्यों का निरीक्षण करने निकले। इस दौरान उन्होंने पाया कि कई कार्य ऐसे हैं जो निर्धारित समय 30 जून से पहले पूरे नहीं हो सकते। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को फटकार भी लगाई।

यमुनानगर में यमुना के साथ लगते कई इलाके ऐसे हैं जहां पर बाढ़ हर साल तबाही मचाती है। इसके अलावा सोम एवं पथराला नदियों द्वारा भी यमुनानगर जिला के कई गांवों को प्रभावित किया जाता है। यह नुकसान कम से कम हो इसके लिए सिंचाई विभाग द्वारा हर साल करोड़ों रुपए की राशि खर्च करके बाढ़ रोकथाम कार्य किए जाते हैं। यमुनानगर के उपायुक्त गिरीश अरोड़ा ने बाढ़ रोकथाम के हो रहे कार्यों का निरीक्षण किया।

उन्होंने कई इलाकों में पाया कि बाढ़ रोकथाम पूरी तेजी से नहीं हो रहे, जिसके चलते वह निर्धारित अवधि 30 जून तक पूरे होने संभव नहीं है। इसके लिए सिंचाई विभाग के अधिकारियों को उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि यह कार्य तेजी से किया जाए, ताकि लोगों को बाढ़ के कारण किसी तरह का कोई नुकसान ना हो। बाद में मीडिया से बातचीत करते हुए उपायुक्त गिरीश अरोड़ा ने कहा की बाढ़ से निपटने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं और अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

 सोम नदी, पथराला नदी, यमुना नदी बाढ़ से हर साल तबाही मचाती हैं। हर साल करोड़ों रुपए खर्च करके बाढ़ रोकथाम कार्य भी किए जाते हैं ,लेकिन ग्रामीण हर वर्ष चिंतित रहते हैं और उनका भारी नुकसान भी होता है। देखना दिलचस्प होगा इस बार बाढ़ से कितने बचाव हो पाते हैं।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static