आंदोलन का एक साल पूरा: टिकरी बार्डर पर किसानों की महापंचायत, MSP पर कानून बनाने की मांग

punjabkesari.in Friday, Nov 26, 2021 - 01:21 PM (IST)

बहादुरगढ़( प्रवीण): किसान आंदोलन को आज एक साल पूरा हो गया। नए कृषि कानूनों की वापसी की प्रक्रिया भले ही शुरू हो गई, लेकिन MSP समेत दूसरी मांगों को लेकर किसान आज टीकरी और सिंघु बॉर्डर पर शक्ति प्रदर्शन करेंगे। टीकरी बॉर्डर के पास सेक्टर-13 में 7 एकड़ क्षेत्र में किसान महापंचायत बुलाई गई है। बीकेयू उग्राहा के सूबा प्रधान जोगेन्द्र सिंह उग्राहा ने किसान महापंचायत में मुख्य वक्ता के तौर पर शिरकत की। जोगेन्द्र उग्राहा ने महापंचायत में एलान किया कि जब तक सरकार उनके मांग पत्र का जवाब नही देती तब तक दिल्ली मोर्चो पर संघर्ष जारी रहेगा।  उन्होंने कहा कि महापं चायत कृषि कानूनों की वापसी के जश्न के लिए है और महापंचायत बाकि मांगो को पूरी कराने के संघर्ष के एलान के लिए है। उन्होंने कहा कि घर की याद तो आती है और वे लोग घर जाना भी चाहते हैं लेकिन सरकार के जवाब का इंतजार अभी बाक है। 

PunjabKesari

इस महापंचायत को लेकर पंजाब से बड़ी संख्या में किसान पहुंच रहे हैं। किसानों के दिल में एक तरफ कृषि कानूनों की वापसी की खुशी है, तो दूसरी तरफ आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले साथी किसानों की मौत का गम भी नजर आ रहा है। वहीं, टीकरी बॉर्डर पर पंचायत के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा बढ़ाई है। पैरामिलिट्री के जवानों की तादाद भी अधिक हुई है। टीकरी बॉर्डर पर 6 फुट का रास्ता दोपहिया वाहनों के लिए खुला है।
 

PunjabKesari

भारतीय किसान यूनियन एकता (उग्राहा) की तरफ से सेक्टर-13 में यह महापंचायत आयोजित की जा रही है। इसमें संयुक्त किसान मोर्चा के तमाम नेताओं को बुलाया गया है। BKU एकता (उग्राहा) के कार्यकारी प्रधान जसविंदर सिंह ने बताया कि पिछले दो दिन में 20 हजार से ज्यादा किसान टीकरी बॉर्डर पर पहुंच चुके हैं। इसके अलावा सिंघु बॉर्डर पर भी काफी किसान पहुंचे हैं।

PunjabKesari

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static