सर्जरी के बाद ठीक हुई पुन्हाना की दीपांशी, 7 साल की उम्र में ही रीड की हड्डी की बीमारी से थी पीड़ित

punjabkesari.in Saturday, Jun 25, 2022 - 06:09 PM (IST)

नूंह (एके बघेल) : हरियाणा के नूंह जिले के पुन्हाना कस्बे की दीपांशी दुर्लभ गंभीर रीड की हड्डी की बीमारी से पीड़ित थी। माता-पिता बच्ची की बीमारी को देखकर काफी परेशान होने लगे थे। दीपांशी अपनी बीमारी की वजह से 120 डिग्री झुककर चलने लगी थी जिसकी वजह से उसे उठने-बैठने, खेलने-कूदने व पढ़ने-लिखने में काफी परेशानी होने लगी थी। इसी चिंता को लेकर मां-बाप की चिंता भी बढ़ने लगी थी, क्योंकि वह एक लड़की है और इस तरह की बीमारी से पीड़ित है कि उसके आने वाले भविष्य को लेकर भी दीपांशी के माता-पिता परेशान रहने लगे। काफी जगह दीपांशी के इलाज के लिए गए लेकिन कई साल बाद उन्हें आखिरकार दीपांशी के इलाज का रास्ता मिल गया।

PunjabKesari

बताया जा रहा है कि दीपांशी अभी 12 साल की है। सात साल की उम्र से ही एक दुर्लभ गंभीर रीढ़ की हड्डी की बीमारी से पीड़ित हो गई थी, जिसके परिणाम स्वरूप उसकी पीठ सामान्य रीढ़ की हड्डी से अगल-बगल झुकने लगी। फरीदाबाद के सर्वोदय अस्पताल में एक जटिल सर्जरी के बाद दीपांशी की रीढ़ की हड्डी को उसके सीधे आकार में कर दिया है। अब दीपांशी सर्जरी के बाद सीधी खड़ी हो सकती है जिसको देख पूरा परिवार काफी खुश नजर आ रहा है।

परिजनों ने बताया कि सर्जरी से पहले हफ्ते तक दीपांशी को रीढ़ की हड्डी के विभाग में रखा गया था। दीपांशी के पिता ने बताया कि सर्जरी के समय डॉक्टरों ने कहा था कि दीपांशी को लकवाग्रस्त होने का भी खतरा था। इसलिए रीढ़ की हड्डी के आसपास के ऊतकों को ढीला करने के लिए उसे एक सप्ताह के लिए स्पाइनल ट्रैक्शन में रखा गया था। नतीजतन, रीढ़ की वक्रता 120 डिग्री से 80 डिग्री तक कम हो गई थी।  इसके बाद डॉक्टरों ने उसका ऑपरेशन किया। उन्होंने कहा कि स्पाइनल कर्व 120 डिग्री से घटकर सिर्फ 46 डिग्री रह गया, जिससे दीपांशी अब पूरी तरह ठीक हो गई है। सर्जरी के चार दिन बाद छुट्टी दे दी गई।

दीपांशी के माता-पिता का कहना है कि दीपांशी की सर्जरी 10 घंटे तक चली जिसमें डॉक्टरों की टीम जिसमें डॉ आशीष तोमर, सीनियर कंसल्टेंट, ऑर्थोपेडिक्स एंड स्पाइन सर्जरी, सर्वोदय अस्पताल के नेतृत्व में सर्जनों की एक टीम द्वारा संचालित की गई। दीपांशी के परिजन पिछले 2 सालों से डॉ आशीष तोमर से बच्ची की बीमारी को लेकर सलाह मशवरा करते रहे। आखिरकार सफल ऑपरेशन के बाद अब दीपांशी सामान्य बच्चों की तरह चल फिर सकती है। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static