गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्लालय के छात्र के किया कमाल, रसोई गैस की लीकिज की बडी समस्या का किया समाधान

9/23/2021 9:39:46 AM

हिसार (विनोद): हिसार के गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्यालय के एमटैक के छात्रों एक महत्पूर्ण उपलब्धि हासिल करते हुए कमाल करके दिखाया है। इलैक्ट्रोनिक एंड कम्यूनिकेशन के छात्रो ने गैस लीकेज आटोमेटिक डिटेक्टर एंड एग्जास्ट सिस्टम तैयार किया है रसोई गैस मे सिलेडर से गैस लीक होने वाले हादसो पर अब रोक लग सकेगी गुरु जम्भेश्वर विद्यालय के छात्रों ने एक ऐसा डिवाइस तैयार किया है जिससे गैस लीक होने पर सिलेंडर का रिगुलेटर अपने आप पंद हो जाएगा। यह ही नही रसोई घर में गैस फैलते ही एग्जास्ट फैन अपने आप ही चलेगा और गैस को रसोई से अपने आफ बाहर फैंक देगा।  

विश्वविद्लायलय के इलैक्ट्रोनिक्स एंड कम्यूनिकेशन विभाग के एमटैक के द्तिीय वर्ष के छात्र अनुराग, अनमोल प्रकाश सिह गिल  के एक प्रोजेक्ट के तहत बनाए गए प्राथमिक माडल में यह प्रत्यक्ष तौर दर्शाया गया है।  छात्रों ने कहा कि हम इस माडल को और बेहतर बनाने का प्रयास कर रहे है ताकि यह बाजार के लिए मुूरत रुप ले सके और समाज को फायदा हो। छात्र प्रकाश ने बताया कि वे हर रोज देखते है कि रसोई घर मे सिलेडर से गैस लीक होने पर हादसे होते रहते हैइसी समस्या का हल करने के लिए उन्होंने कुछ डिवाइस बनाने की कोशिक की है अब उन्होंने सैंसर से गैस की पहचान कर गैस के रेगुलैटर को आटो मेटिक बंद कररने और एग्जास्ट फैन चला कर गैस बाहर फैकने का माडल बनाने में सफलता हासिल की है। छात्रो ने बताया इससे गैस सिलेडर के कारण होने वाले हादसो में बडी कमी आएगी और वे इस प्रोजेक्ट को और बेहतर करेगे।

कैसे काम करता है गैस लीकेज आटोमेटिक डिटेक्टर एंड एग्जास्ट सिस्टम
प्रोजेक्ट बनाने वाले गुजवि  छात्रों अनुराग  अनमोल, प्रकाश सिंह, का कहना है कि अनमोल प्रकाश गिल व खुशी ने बताया कि यह गैस लीकेज आटो मेटिक डिकेक्टर एंड एग्जास्ट सिस्टम है इसमें एम क्यू सिक्स नामक एक सैंसर लगाया है जो गैस को आटोमेटिक डिटेक्ट कर लेता है और अर्लाम को संकेत भेजता है अर्लाम बजने के साथ ही रेगुलेटर भी अपने आप बंद हो जात हैऔर संकेत मिलने पर एग्जास्ट फैल चालू होकर गैस को बाहर फैक देता है। माइक्रोकंट्रोलर आर्डिनोह पूरे सिस्टम को कट्रोल करता है।

हिसार के गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्यालय के अस्टीटेट प्रोफेसर कुलदीप ने कहा कि गैस लीकिज को लेकर छात्रों ने डिवाईस तैयार की है। उन्होंने कहा कि रसोई में किसी तरह की गैस लीक हो जाती है इस डिवाइज से आसानी से पता चल जाता है। छात्रों ने इलैक्ट्रोनिक इस्टूमैंट लेकर डिवाइस तैयार किया है।  छात्रों ने यह तैयार करके एलपीजी गैस डिटेक्टर तैयार किया है। इसंान अगर घर को बंद करके चला जाए तो  और रसोई गैस की लीक हो जाए तो इस डिवाइस से माध्यम से पता चल जाएगा। ऐसे में घर मे ंयह डिवाइस लगा होना चाहिए। छात्रों ने अपनी डिग्री के प्रोजेक्ट के तहत सफल परीक्षण किया। उन्होने कहा कि इस  बाजार में उतारना है तो इसे दो तीन महीने लग जाते है और यह लोगों के लिए  काफी उपयोगी सिद् हो सकता है।

एमटैक के छात्र अनमोल ने कहा मेरी सिस्टर खाना बना रही थी इसी दौरान गैस लीक हो गई थी तब सोचा कि गैस लीक की समस्या को दूर करने  लिए कुछ तैयार किया जाएर्। अगर सिस्टम नही लगा तो दुघर्टना होने के खतरा बना रहता है। इसका नामगैस लीकेज आटोमेटिक डिटेक्टर एंड एग्जास्ट सिस्टम है।  छात्र ने कहा कि यह डिवाइस गैस लीकेज को रोकने का काम  करेगा।  छात्र ने कहा कि लीकेज के लिए बंद के लिए सैंसर लगा हुई जैसे लीकेज शुरु होगी उससे पता चल जाएगा। रिगुलेक्टर के साथ लगी होगी रिगुलेटर को बंद कर देगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static