सूरजकुंड में विदेशियों ने बताई हरियाणा से जुड़ी मनोहर बात, हरियाणा को बताया देश का अग्रणी राज्य

punjabkesari.in Monday, Mar 28, 2022 - 10:27 AM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल व केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री श्रीमती मीनाक्षी लेखी की उपस्थिति में लैटिन अमेरिकी व कैरेबियाई क्षेत्र के एक दर्जन से अधिक देशों के भारत में मौजूद प्रतिनिधियों ने रविवार को जमकर हरियाणा की प्रशंसा की। सूरजकुंड में आयोजित हरियाणा-एलएसी सम्मेलन के दौरान राउंड टेबल डिस्कशन के दौरान अनेक प्रतिनिधियों ने हरियाणा की कला-संस्कृति, कृषि, खेल, आईटी सेक्टर, इंडस्ट्रीज व अन्य पहलुओं को लेकर खुलकर अपनी बात रखी। मुख्यमंत्री ने भी ध्यानपूर्वक इन प्रतिनिधियों की बातों को सुना और विभिन्न देशों से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्नों का जवाब भी दिया। 

देश के महत्वपूर्ण राज्यों में हरियाणा की विशिष्ट पहचान
डोमिनिकन रिपब्लिक के डेविड ई पेग बुशेल ने हिंदी में अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए कहा कि मुझे बहुत खुशी हो रही है कि आज सूरजकुण्ड मेला पहली बार देखने का अवसर मिला। यह सम्मेलन हम सभी के लिए महत्वपूर्ण है क्योकि हरियाणा देश के महत्वपूर्ण राज्यों में से एक है। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में रूचि जाहिर करते हुए कहा कि वे अपने देश में लुक बियोंड यूरोप से आगे बढक़र भारतीय शिक्षण संस्थाओं के लिए युवाओं को प्रेरित करेंगे। मुख्यमंत्री ने इस बात का स्वागत करते हुए कहा कि हरियाणा में अनेक उच्च शिक्षण संस्थानों को ए व ए प्लस रैकिंग हासिल है।  

गुरूग्राम में रहकर जाना हरियाणा
पनामा की यासिल एलिंस बुरीलो रिवेरा ने राउंड टेबल डिस्कशन के दौरान बताया कि वे भारत आकर सबसे पहले गुरूग्राम में रहने का अवसर मिला। गुरूग्राम के माध्यम से ही उन्होंने हरियाणा को जाना। उन्होंने बताया कि पनामा को अमेरिकी द्वीप का कनेक्टिंग प्वाइंट कहा जाता है। मुख्यमंत्री ने भी पनामा की प्रतिनिधि को अमेरिकी व हरियाणा के बीच कनेक्टिंग प्वाइंट बनने की बात कही।

खुले दिल से आयोजन का स्वागत
पेरू से कार्लोस राफेल पोलो कास्टानेडा ने हरियाणा-एलएसी सम्मेलन के विचार को स्वागत योग्य बताया। हरियाणा और पेरू मिलकर विभिन्न क्षेत्रों में काम करें इस विश्वास के साथ यह आयोजन हुआ है। उन्होंने कहा कि पेरू खुले दिल से हरियाणा से जुडक़र आगे बढऩे को तैयार है। 

बासमति चावल को लेकर दिखाई रूचि
हरियाणा का बासमती चावल भी इस सम्मेलन में विभिन्न देशों के बीच लोकप्रिय नजर आया। चिली से जुआन एंगुलो मोनसालवे व क्यूबा के एलेजांदरो सिमांकस मरीन ने बासमती चावल को लेकर अपनी पसंद जाहिर की और मुख्यमंत्री से निर्यात बढ़ाने की दिशा में प्रयास करने का आग्रह भी किया उनके देशों में इसकी लोकप्रियता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हैफेड के माध्यम से शीघ्र से बासमती के निर्यात को लेकर आगे बढ़ा जाएगा।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static