यमुना में कम हुआ जलस्तर, दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में बढ़ सकता है जल संकट

punjabkesari.in Wednesday, May 18, 2022 - 12:17 PM (IST)

यमुनानगर (सुरेंद्र मेहता ): आने वाले कुछ दिनों में अगर वर्षा नहीं हुई तो हरियाणा, दिल्ली व उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में जल संकट बढ़ सकता है। दिल्ली में जारी जल संकट के लिए केजरीवाल सरकार हालांकि हरियाणा सरकार को जिम्मेवार ठहराते हुए अतिरिक्त पानी देने की मांग कर रही है।  

वर्तमान परिस्थितियों जारी रहने पर और इलाकों में जल संकट गहरा सकता है। यमुनानगर में स्थित हथिनी कुंड बैराज से आज पानी का जल बहाव 4625 क्यूसेक दर्ज किया गया। जिसमें से दिल्ली के लिए 352 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। जबकि वेस्टर्न जमुना कैनाल के लिए 3254 क्यूसेक पानी,  उत्तर प्रदेश के लिए 1019 से पानी छोड़ा गया। जबकि उत्तर प्रदेश की डिमांड 2000 क्यूसेक पानी की थी वही हरियाणा की डिमांड 7000  क्यूसेक की  की रही, जबकि सप्लाई मात्र 3254 क्यूसेक ही किया गया। क्योंकि यमुना में पानी कम है।

सिंचाई विभाग हरियाणा के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर आर एस मित्तल का कहना है कि पिछले कुछ दिनों से पानी के बहाव में जबरदस्त परिवर्तन आ रहा है। कभी पानी 2001क्यूसेक तक रह जाता है कभी 3 से 4000 क्यूसेक तक में आ जाता है। जबकि इस समय डिमांड दिल्ली, हरियाणा,  यूपी की लगातार बढ़ रही है। बढ़ती मांग को वर्तमान परिस्थितियों में पूरा नहीं किया जा सकता।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static