शाम तक शक्ल न दिखाने की पति को दी थी धमकी और फिर तेल छिड़ककर खुद लगा ली आग, मौत

2020-11-22T02:04:49.493

पानीपत, (संजीव नैन) : उझा रोड के पास बनी एक कालोनी में रहने वाली महिला को दो दिन पूर्व बच्चे की देखभाल को लेकर पति द्वारा लगाई डांट इस कद्र नागवार गुजरी कि शनिवार को महिला ने खुद पर मिट्टी का तेल छिडक़ कर आग लगा ली। आग से झुलसी महिला ने बाद में दम तोड़ दिया है। घटना की सूचना मिलते ही थाना चांदनी बाग से एएसआई प्रमोद अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया। जहां रविवार को शव का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। वहीं महिला के मायके से देर शाम तक कोई नहीं पहुंचा था। पुलिस का कहना है कि परिजनों के बयान रविवार को दर्ज करके उसके अनुसार आगामी कार्रवाई की जाएगी। फिर पुलिस द्वारा मामले की छानबीन की जा रही है।
मूल रूप से उत्तर प्रदेश के जिला आगरा के तहत नंदगांव निवासी 25 वर्षीय अशोक ठाकुर ने बताया कि उसकी शादी तीन साल पहले प्रतिज्ञा पुत्री जितेन्द्र के साथ हुई थी। इस शादी से उसे अढ़ाई का बेटा अभिनव है। पहले वह परिवार सहित दिल्ली में रह रहा था। लेकिन लॉक डाउन में काम छूअे के बाद हुए कर्जे से परेशान होकर वह परिवार सहित पानीपत में ऊझा रोड पर टीडीआई के पीछे बसी हुई संदीप कालोनी में रहने लगा था। परिवार में 23 वर्षीय पत्नी प्रतिज्ञा व अढ़ाई साल के बेटे अभिनव उर्फ डुज्गू के साथ-साथ उसका ससुर जितेन्द्र, सास रजनी व साला गगन भी उनके साथ ही रहता था। दीपावाली के त्यौहार पर सास-ससुर व साला अपने पैतृक गांव आगरा चले गए तो पीछे से पति-पत्नी में आपस में विवाद होने लगा। वीरवार की सुबह उसका छोटा बेटा बिना कपड़ों के ही लेटा हुआ था। जिस पर उसने पत्नी को यह कहते हुए डांट दिया था कि बच्चे की सही से देखभाल सही से किया करो, बच्चा नंगा रहेगा तो उसे ठंड ल जाएगी। डांट फटकार के बाद वह काम पर चला गया तो पीछे से पत्नी मिट्टी के तेल की एक बोतल ले आई।
बाक्स
बोतल को देखकर हुआ था आश्चर्य
अशोक ठाकुर ने बताया कि वीरवार शाम को जब वह काम से वापस लौटा तो घर में मिट्टी के तेल की बोतल देखकर उसे आश्चर्य हुआ। पूछने पर पत्नी ने बताया कि वह बच्चे की छाती पर लगाने के लिए लाई है। किसी ने देशी इलाज बताया है कि इसे लगाने से बच्चे को ठंड नहीं लगेगी तथा वह ठीक हो जाएगा। हालांकि एक बार तो वह बोतल को फेंकने लगा था लेकिन पत्नी की बातों पर विश्वास करते हुए उसने बोतल नहीं फेंकी।
बाक्स
दो दिन से चेहरा नहीं दिखाने की दे रही थी धमकी
अशोक ने बताया कि घर में मिट्टी के तेल की बोतल आने के बाद अगले दिन से ही पत्नी ने उसे धमकी देनी शुरू कर दी थी कि वह शाम को काम से लौटेगा तो उसे अपनी शक्ल नहीं दिखाएगी। उसे लगा कि पत्नी उसे बेवजह धमकी देकर डरा रही है। शुक्रवार शाम को जब वह वापस घर लौटा तो पत्नी घर में लेटी हुई थी। उसे यकीन हो गया कि पत्नी अवश्य ही उसे धमकियां देकर डरा रही है। शनिवार को भी यही हुआ काम पर जाते समय पत्नी ने उसे शाम तक शक्ल न दिखाने की धमकी दी। लेकिन वह उसे अनसुना कर काम पर चला गया। ड्यूटी के दौरान साले गगन ने फोन पर सूचना दी कि प्रतिज्ञा ने खुद को आग लगा ली है। जिस पर वह सूचना पाते ही तुरन्त घर पहुंचा तो पाया कि पत्नी झुलसी पड़ी है तथा उसकी मौत हो चुकी है। उसे नहीं पता था कि पत्नी की धमकी को अनदेखा करना भारी पड़ेगा।
बाक्स
आखिर क्या राज है मोबाइल में
वहीं दूसरी ओर यह भी चर्चा रही कि दम्पति में मोबाइल फोन को लेकर विवाद होता था। पति इस बात पर शक करता था कि उसकी पत्नी के पास कोई फोन करता है, जिसके बारे में पत्नी से पूछने पर वह कुछ नहीं बताती थी। जिसे लेकर दोनों में अक्सर विवाद की स्थिति बन जाती थी। ऐसे में माना जा रहा है कि महिला के मोबाइल फोन की जांच होने पर कुछ रहस्य से पर्दा उठ सकता है कि आखिर माजरा क्या है। महिला के पास मायके से ज्यादा फोन आते थे या कुछ अन्य मामला है, यह जांच का विषय है।
वर्जन
घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया है। जहां रविवार को शव का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। वहीं रविवार को ही परिजनों के बयान दर्ज करते हुए आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
एएसआई प्रमोद कुमार, जांच अधिकारी, थाना चांदनी बाग।  

रिपोर्ट : संजीव नैन, पानीपत।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Sanjeev Nain

Recommended News

static