बिस्तर पर बच्चों के साथ सो रहा था सांप

7/29/2021 7:54:18 PM

गुडग़ांव (ब्यूरो): कहते है जाको राखै साइयां मार सकै ना कोय। वीरवार को एक ऐसा ही एक मामला रमेश कालोनी गाडौली खुर्द गांव में आया। जहां रात को अढ़ाई बजे सो रहे बच्चों के बेड पर कॉमन करैत जा पहुंचा। हालांकि बच्चों द्वारा इसे देखते जाने के बाद इसकी सूचना परिजनों को दी। जहां परिजनों ने तत्काल इसकी सूचना वाइल्ड लाइफ सोसायटी को दी। मौके पर पहुंची टीम ने घंटों मशक्कत के बाद इसे काबू कर लिया। वाइल्ड लाइफ सोसायटी के मुताबिक रात 2.30 बजे फोन आया। शिकायत कर्ता ने बताया मैं और मेरे बच्चे अपने बैडरूम में सो रहे थे। इसी बीच उनकी 10 साल की बेटी अचानक उठ गई। उसने अपने पाया को जगाकर बताया कि बेड पर एक बहुत बड़ा सांप है। जिसके तुरंत बाद बच्चे के पापा व मम्मी दोनो के होश उड़ गए। आनन फानन में लाइट जलाकर सांप की पहचान की गई जो सही पाया गया। परिवारिक सूत्रों ने बताया जिस बेड पर बच्चे सो रहे थे उसी पर सांप भी सो रहा था। वही रैस्क्यू टीम विशेषज्ञ अनिल गंडास ने बताया सूचना मिलते ही वे बिना जुते के ही दौड़ पड़े। मौके पर पहुंचकर देखा तो हमारे होश उड़ गए। जिस बिस्तर पर बच्चे सो रहे थे उसी पर करीब 4 फुट लंबा जहरीला कामन कैरत सांप लेटा था। अनिल ने बताया पहले उन्हे खुद यकिन नही हुआ लेकिन यकिन होने के बाद उन्होने सावधानी के साथ रैस्क्यू अभियान शुरू किया। काफी मशक्कत के बाद के बाद उसे रैस्क्यू कर लिया गया। 

रैस्क्यू किया सबसे जहरीला सांप

ज्ञात हो कि इससे पूर्व 27 जुलाई को गाडौली खुर्द में रखे हुए कोयले की एक दुकान में शा स्कैल सांप को रैस्क्यू करने में सफलता मिली थी। विशेषज्ञों के मुताबिक रैस्क्यू किया गया ये सांप देश के टॉप-4 जहरीलें सांपों में शुमार है। हालांकि स्थानीय लोगों ने सांप को पकड़े जाने के बाद राहत की सांस ली है। वही वीरवार को पकड़े गए काँमन करैत को बेहद जहरीला बताया गया। रैस्क्यू टीम के सदस्य अनिल गंडास ने बताया वन्य जीव विशेषज्ञ अनिल गंडास ने बताया भगवान का शुक्र है कि इससे किसी को काटा नही। क्योकि यह देश के टॉप-4 जहरीले सांपों में से एक है। इसके काटने से मौत निश्चित है।

वर्जन-

‘‘यह बेहद हैरान करने वाला हादसा था। कॉमन करैत को आम तौर पर ब्लू करैत भी कहा जाता है। जो सांपों के सबसे जहरीले प्रजाति में से एक है। यह सबसे ज्यादा बंग्ला देश और भारत में पाया जाता है।’’ अनिल गंडास, अध्यक्ष वाइल्ड लाइफ सोसायटी गुडग़ांव


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Gaurav Tiwari

Recommended News

static