भाभी के शव के टुकड़ों को रजबाहे में फैंकने के दोषी को 7 साल कैद, पति ने आरी से किए थे 5 टुकड़े

punjabkesari.in Thursday, Dec 01, 2022 - 10:19 AM (IST)

पानीपत : दिल्ली के आफताब व श्रद्धा के केस जैसा मामला पानीपत में पहले ही घटित हो चुका है जिसमें बुधवार को सजा सुनाई गई। पति ने पत्नी के आरी से 5 टुकड़े किए थे। भाभी अफसाना पत्नी इश्तियाक खान के शव को खुर्द-बुर्द करने के आरोपी देवर सिराज पुत्र मुश्ताक खान मूल निवासी गांव चरखारी जिला महुआ, उत्तर प्रदेश हाल निवासी न्यू पंचवटी कालोनी, समालखा जिला पानीपत को दोषी करार देते हुए 7 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई गई। ए.डी.जे. अजय कुमार वर्मा की अदालत ने दोषी सिराज पर 50 हजार रुपए का जुर्माना भी किया जबकि जुर्माना नहीं देने पर दोषी को छह माह का अतिरिक्त कारावास भोगना होगा। इश्तियाक खान शराब पीने का आदी था। इश्तियाक की शराब की लत के कारण उसका अफसाना के साथ विवाद रहता था।

बता दें कि 16 मार्च 2019 को अफसाना की हत्या कर दी गई थी। अफसाना के कत्ल की बात किसी को पता न चले इसके लिए इश्तियाक ने आरी से अफसाना का सिर धड़ से अलग कर दिया था। वहीं शेष शव के चार टुकड़े किए। इश्तियाक ने अपने भाई सिराज को 17 मार्च को घटना की जानकारी दी। दोनों ने मिलकर अफसाना के शव के टुकड़ों को प्लास्टिक के पांच कट्टों में बांधा। इश्तियाक ने जहां अफसाना के सिर को मनाना फाटक के पास कूड़े में फेंक दिया था जबकि सिराज ने चार टुकड़ों को गांव पट्टीकल्याणा, गढ़ी छाजू व जौरासी रोड के बीच बहने वाले रजबाहे में फेंक दिया। कई दिनों तक अफसाना से फोन पर बातचीत नहीं होने पर भाई नबीर पुत्र बशीर मूल निवासी खूब नगर जिला करोली राजस्थान हाल निवासी द्वारका, दिल्ली बहन से मिलने समालखा आ पहुंचा। बहन के नहीं मिलने पर नबीर को शक हुआ और उसने इस मामले की सूचना पुलिस को दी। थाना समालखा पुलिस ने गहन जांच कर अफसाना की हत्या का पर्दाफाश किया। इश्तियाक की जेल में मौत हो गई थी जबकि सिराज ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बयान दर्ज करवाए।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static