ग्रामीण इलाकों में कोरोना टेस्टिंग के लिए 8 हजार टीमें गठित, कोविड आइसोलेशन सेंटर भी बनेगा

5/8/2021 8:12:11 PM

चंडीगढ़ (धरणी): वैश्विक कोरोना महामारी के शहरों के बाद अब ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ रहे प्रसार को रोकने के लिए हरियाणा सरकार ने गांवों में टेस्ट ट्रैक एंड ट्रीट रणनीति को अपनाते हुए 8000 मल्टीडिसीप्लिनरी टीमों के गठन का निर्णय लिया है। ये टीमें गांवों में कोविड-19 जांच के लिए डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग करेंगी।

स्वास्थ्य और पंचायत विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिए गए कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रत्येक घर को कवर करते हुए डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग कैंप आयोजित करने, स्क्रीनिंग कैंप के लिए विशेष मल्टीडिसप्लनेरी टीमों का गठन करने और धर्मशालाओं, सरकारी स्कूलों और आयुष केंद्रों को आईसोलेशन केंद्रों में तब्दील करने जैसी सक्रिय रणनीतियां अपनाई जाएं।  

इसके साथ निर्देश दिए गए कि कोविड-19 प्रबंधन की तैयारियों जैसे टेस्टिंग सुविधा बढ़ाने एवं क्लिनिकल मैनेजमेंट पर ध्यान केंद्रित करने के साथ-साथ विशेष तौर पर, ग्रामीण क्षेत्रों में जन-जागरुकता गतिविधियां प्राथमिकता के आधार पर आयोजित की जाएं। इसके अलावा हर गांव में कोविड आइसोलेशन सेंटर भी बनाया जाएगा। ऑक्सीजन आपूर्ति के बाद प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए यह अभियान चलाया जाएगा।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Recommended News

static