राजस्थान के बाद चंडीगढ़ छात्र संघ चुनावों में दिखेगा INSO का दमखम: दिग्विजय चौटाला

punjabkesari.in Monday, Aug 29, 2022 - 08:59 PM (IST)

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): राजस्थान छात्र संघ चुनाव के बाद अब इनसो चंडीगढ़ में अगले माह में होने वाले छात्र संघ चुनाव में भी दमखम दिखाने को तैयार हैं। इनसो पंजाब यूनिवर्सिटी व चंडीगढ़ के सभी कॉलेजों में अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही हैं और चुनाव में इनसो का झंडा बुलंद होगा। यह बात जेजेपी प्रधान महासचिव एवं पूर्व इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने कही। वे सोमवार को चंडीगढ़ स्थित कार्यालय में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। दिग्विजय चौटाला ने इनसो पदाधिकारियों के साथ चार मैराथन बैठक कर छात्रसंघ चुनाव पर मंथन किया और पदाधिकारियों को जीत के मूलमंत्र दिए। इस अवसर अन्य छात्र संगठन के कई छात्र नेताओं ने इनसो की सदस्यता ग्रहण की।

 

दिग्विजय चौटाला ने कहा कि बीते कोरोना काल के दौरान जब कोई भी संगठन धरातल पर कार्य नहीं कर रहा था। तब इनसो छात्रों के बीच थी और इसी का नतीजा है कि आज इनसो चंडीगढ़ में सबसे मजबूत छात्र संगठन हैं। दिग्विजय ने कहा कि अब समय आ गया है कि चंडीगढ़ में इनसो अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी करें और इसके लिए आज से ही चुनावी तैयारी में इनसो जुट जाए। जेजेपी प्रधान महासचिव ने कहा कि एक छात्र संगठन के लिए उसकी साफ-सुथरी छवि सबसे महत्वपूर्ण है इसलिए इनसो सिर्फ साफ छवि वाले छात्र नेताओं को ही अपने संगठन में शामिल करें। उन्होंने पीयू व विभिन्न कॉलेजों की इनसो इकाइयों को एकजुटता का संदेश देते हुए कहा कि हम सभी की पहचान संगठन से है न कि संगठन हम से हैं इसलिए सभी साथी संगठित होकर चुनाव मैदान में उतरे।

 

दिग्विजय चौटाला ने कहा कि इनसो की पहचान हमेशा से सामाजिक कार्य में अग्रणी भूमिका निभाने की रही है। उन्होंने कहा कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के आदेशानुसार इस वर्ष इनसो पदाधिकारियों को 20 लाख पौधारोपण करना है। इस अवसर पर इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप देशवाल ने घोषणा की कि इनसो पीयू के सभी गर्ल्स हॉस्टलों में अपनी तरफ से सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन उपलब्ध करवाएगी। देशवाल ने कहा कि आज इनसो उत्तर भारत का सबसे मजबूत छात्र संगठन है और राजस्थान छात्र संघ चुनाव में भी इसकी झलक देखने को मिली। उन्होंने कहा कि अब हमें चंडीगढ़ में भी इनसो को मजबूती के साथ छात्र संघ चुनाव में उतारना है और जीत हासिल करनी है।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Gourav Chouhan

Related News

Recommended News

static