खोरी गांव में  सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शनिवार को भी जारी रही तोडफ़ोड़

7/25/2021 11:38:52 AM

फरीदाबाद : खोरी गांव में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तोडफ़ोड़ कार्रवाई शनिवार को भी जारी रही। नगर निगम तोडफ़ोड़ दस्ते ने दिल्ली सीमा से लगते लालकुंआ क्षेत्र में भारी तोडफ़ोड़ की। इस दौरान 750 से अधिक मकानों को तोड़ दिया। 
मौके पर किसी भी प्रकार के विरोध प्रदर्शन से निपटने के लिए भारी पुलिस बल तैनात रहा।  सुप्रीम कोर्ट ने सात जून को नगर निगम और हरियाणा सरकार को लकड़पुर गांव की राजस्व संपदा पर पर बसे खोरी गांव में तोडफ़ोड़ करने के आदेश जारी किए थे। 

कोर्ट का आदेश था कि जंगल की जमीन को फिर से जंगल में तब्दील किया जाए। कोर्ट के आदेशों का पालन करते हुए नगर निगम द्वारा गांव में तोडफ़ोड़ कार्रवाई की जा रही है। हालांकि तोडफ़ोड़ मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। खोरी गांव की एनजीओ और नगर निगम द्वारा सुप्रीम में पक्ष रखा गया। जिसमें कोर्ट ने तोडफ़ोड़ कार्रवाई रोकने से इनकार कर दिया। इसके साथ ही नगर निगम को खोरी और फार्म हाउस पर कार्रवाई के लिए चार सप्ताह का समय दिया है। कोर्ट के नए आदेश के बाद शनिवार सुबह एक बार फिर निगम का तोडफ़ोड़ दस्ता सात पोपलैंड और सात जेसीबी लेकर गांव में पहुंचा। तोडफ़ोड़ कार्रवाई से पूर्व गांव की सीमा को पूरी तरह सील कर दिया गया।

दिल्ली से गांव में आने वाले सभी रास्तों पर पुलिस की तैनाती कर दी गई। तोडफ़ोड़ होने वाले घरों में पुलिस का पहरा बिठा दिया गया। इससे लोगों में अफरा-तफरी मच गई। लोग अपने घरों को खाली करने में लग गए। कोई घरों के गेट को तोड़कर निकाल रहा था, तो शटर को उखाड़ रहा था। इस कारण दिल्ली, लाल कुंआ व प्रहलादपुर रोड पर जाम लग गया। तोडफ़ोड़ के दौरान करीब 750 मकानों ध्वस्त कर  दिए गए।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static