पंजोखरा गुरुद्वारे में माथा टेकने गए गृहमंत्री विज, किसानों ने दिखाए काले झंडे

punjabkesari.in Tuesday, Dec 01, 2020 - 11:52 AM (IST)

अम्बाला शहर : केंद्र सरकार द्वारा लाए 3 कृषि कानूनों को लेेकर पिछले कई दिनों से चल रहा किसान आंदोलन ठंडा होने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज पंजोखरा स्थित गुरुद्वारे में माथा टेकने के लिए गए तो वहां किसानों ने उनका विरोध किया। किसानों में बुजुर्गों के अलावा मौजूद कुछ युवाओं ने हाथों में काले झंडे लेकर विज गो बैक से लेकर मुर्दाबाद तक के नारे लगाए। 

विज के गाड़ी में बैठने से लेकर उनका काफिला गुरुद्वारे की चारदीवारी से बाहर नहीं निकलने तक युवाओं ने हाथों में झंडे लेकर काफी दूर तक पीछा किया। हालांकि इस दौरान किसानों ने वहां मौजूद पुलिस कर्मियों पर उनके साथ धक्का-मुक्की करने और एक सिख युवक की दाढ़ी हाथ में पकडऩे के भी आरोप लगाए हैं। मामले में देर शाम तक कोई भी पुलिस कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई थी। 

दरअसल, अनिल विज अपने काफिले के साथ पंजोखरा गुरुद्वारे में माथा टेकने के लिए पहुंचे थे। माथा टेकने के बाद जब विज अपनी गाड़ी के पास पहुंचे तो अचानक से वहां कुछ युवक व बुजुर्ग किसान आ गए। पहले से कपड़ों में छिपाए रखे काले रंगे के कपड़े निकालकर विज को दिखाने शुरू कर दिए। साथ ही किसानों ने जोर-जोर से सरकार मुर्दाबाद, अनिल विज मुर्दाबाद के नारे लगाए। 

‘खुफिया तंत्र पूरी तरह से रहा फेल’
इस प्रकरण में पुलिस का खुफिया तंत्र भी पूरी तरह से फेल नजर आया। क्योंकि विज का विरोध किए जाने के कार्यक्रम का किसी को कानोंकान पता तक नहीं चल सका। इस कारण गुरुद्वारे में माथा टेकनेे पहुंची हजारों लोगों की भीड़ के सामने चंद किसानों ने विज का भारी विरोध कर नारेबाजी भी की। यही नहीं, सी.आई.डी. के अलावा संबंधित थाने के सिक्योरिटी एजैंट तक को किसानों की इस विरोध करने की प्लानिंग का पता नहीं चल सका। खुफिया तंत्र फेल होने के कारण ही मौके पर अधिक पुलिस बल भी मौजूद नहीं था। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Manisha rana

Related News

Recommended News

static