हांसी में दिन दिहाडे चली ताबड़तोड़ गोलियां, जाट आरक्षण हिंसा के आरोपी समेत 5 घायल

punjabkesari.in Thursday, May 05, 2022 - 10:45 PM (IST)

हांसी(संदीप): हिसार-दिल्ली नेशनल हाईवे पर हांसी के सैनीपुरा गांव के पास एक स्कॉर्पियो गाड़ी पर फायरिंग हुई, जिसमें 5 लोग घायल हुए हैं। घायलों को हांसी के नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां से उनकी गंभीर हालत को देखते हुए उन्हे हिसार रेफर कर दिया गया। हादसे में घायल दलजीत सिहाग  2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हुई एक हत्या के मामले में जेल में आजीवन कारावास की सज़ा काट रहा है।

जानकारी के अनुसार दलजीत सिहाग 4 लोगों के साथ अपनी स्कारपियो गाड़ी में सवार होकर निजी कार्य के लिए भिवानी के प्रेम नगर जा रहे था। जैसे ही वह सैनीपुरा के गांव के फ्लाईओवर के नजदीक पहुमचा तो, दो गाड़ीयो  में सवार 8 से 10  युवकों ने दलजीत सिहाग की गाड़ी पर ताबड़तोड़-फायरिंग करनी शुरू कर दी। आरोपियो  ने दलजीत सिहाग की गाड़ी पर करीब 12 राउंड फायर किए। हमलावारों ने गाड़ी के टायर में भी गोली मार दी ताकि वें यहां से भाग न सके। स्कॉर्पियो गाड़ी में सवार दलजीत सिहाग और अन्य लोगों ने अनाज मंडी चौंकी में जाकर अपनी जान बचाई। इस हमले में दलजीत समेत कुल 5 लोग घायल हो गए हैं। 22 वर्षीय दीपक और 25 वर्षीय दीपक के हाथ, पैर और पीठ में गोली लगी है। इसके अलावा 26 वर्षीय राकेश के कान के पास गोली लगी है। वहीं आम आदमी पार्टी के संगठन मंत्री, 32 वर्षीय अमित बूरा और दलजीत सिहाग के हाथ व पैर पर गोली लगी है। पांचो को ईलाज के लिए हांसी के नागरिक अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी गंभीर हालत को देखते हुए उन्हे हिसार रेफर कर दिया गया। फिलहाल माना जा रहा है कि यह फायरिंग आपसी रंजिश के चलते की गई है।

गाड़ी को पुलिस चौकी में ले जाकर बचाई जान

घटना के बाद दलजीत के ड्राइवर ने देखा कि सभी को गोलियां लग चुकी है तो उसने गाड़ी घुमाई और मौके से गाड़ी को भगा ले गया। हमलावरों ने जींद रोड़ तक गाड़ी का पीछा किया। स्कॉर्पियो के ड्राईवर ने साहस का परिचय देते हुए गाड़ी को अनाज मंडी स्थित पुलिस चौकी में ही ले जाकर रोका। । सूचना मिलने ही पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई। जानकारी के अनुसार पुलिस को मौके पर करीब एक दर्जन गोलियों के खोल मिले हैं।

कुछ समय पहले ही वह पैरोल पर जेल से बाहर आया था। 

बता दें कि दलजीत सिहाग  2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हुई एक हत्या के मामले में जेल में आजीवन कारावास की सज़ा काट रहा है। वह 42 दिन की पैरोल पर जेल से बाहर आया हुआ है। दलजीत सिहाग की पैरोल 7 मई को खत्म होने वाली थी। जानकारी के अनुसार दलजीत पर करीब 50 मामले दर्ज है और अधिकांश मामलों में वह कोर्ट से रिहा हो चुका है। हालांकि कुछ मामले अभी भी कोर्ट में विचाराधीन है।

गाड़ी धीरे होने पर अचानक सामने आ गए हमलावार

इस हादसे में घायल अमित बूरा  ने बताया कि हम सब किसी काम के चलते भिवानी के प्रेमनगर जा रहे थे। जैसे ही सैनीपुरा पुल के पास मुडने के गाड़ी धीमी की तो अचानक कुछ बदमाशों ने स्कॉर्पियो के आगे और पीछे अपनी गाड़ियां लगा दी और आगे की गाड़ी से करीब 10 से 12 लोग उतरे। इससे पहले वें कुछ समझ पाते, बदमाशों ने उनके ऊपर अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी। घायल अमित ने बताया कि सभी के पास छोटे हथियार थे। हम गाड़ी में सात लोग थे, जिनमें से पांच को गोली लगी है।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static