गरीब दलित की हत्या पर संयुक्त किसान मोर्चा का चुप रहना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण: बनवारी लाल

10/19/2021 6:56:26 PM

चंडीगढ़ (धरणी): हाल ही में सिंघु बॉर्डर पर हुई दलित की हत्या पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री डॉक्टर बनवारीलाल कहा है कि इस घटना पर संयुक्त किसान मोर्चा को स्पष्टीकरण देना चाहिए कि वह निहंग सिखों के साथ हैं या उनसे अलग हैं। उन्होंने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि इस तरह के जघन्य अपराध नहीं होने चाहिए। अगर किसी ने कोई दोष किया है तो सजा देने का हक केवल कानून को है। कानून को हाथ में लेकर इस प्रकार की घटना को अंजाम देना बेहद गलत तरीका है।

उन्होंने कहा कि इस घटना से संयुक्त किसान मोर्चा की भूमिका भी संदिग्ध हो जाती है जो निहंगो के साथ इतने दिन से बैठे हैं। डॉ बनवारीलाल ने कहा कि जब लखीमपुर या अन्य किसी जगह पर किसी किसान के साथ कोई बात या घटना हुई तो यह लोग बोलते हैं मृतकों के लिए मुआवजा और नौकरी की मांग करते हैं, लेकिन दलित की हत्या पर खामोश रहते हैं। यह बेहद गलत बात है।

डॉ बनवारी लाल ने कहा कि प्रदेश के पहले एथेनॉल प्लांट शाहबाद का उद्घाटन नवंबर में किया जाना तय हुआ है। इसी तरह से पानीपत और करनाल में भी प्लांट लगाए जाएंगे। साथ ही साथ प्रदेश की छोटी मिलों को इकट्ठा करके 90 केएलपीडी के प्लांट लगाए जाएंगे। जिसमें रोहतक-महम और गोहाना को एक करके रोहतक में प्लांट लगाया जाना तय हुआ है। इसी तरह सभी शुगर मिलों में यह प्लांट लगाए जाने हैं। डॉ बनवारी लाल ने कहा कि अमित शाह ने मंत्रालय संभालने के बाद पैक्स को ज्यादा सुदृढ़ करने के लिए ज्यादा पावर देने के बारे एक मीटिंग ली थी। इसे लेकर मल्टी सर्विस सेंटर का प्रोविजन करेंगे। 

पैक्स में हम कंप्यूटराइजेशन का काम लगातार कर रहे हैं। पैक्स में डेयरी-हैफेड इत्यादि की आइटम साथ ही एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड के जरिए जो 3900 करोड रुपए का बजट अलॉट हुआ है, उसमें मल्टी काम जैसे पैक्स के गोदाम-स्टोरेज या फूड प्रोसेसिंग यूनिट बनाने जैसे काम करेंगे। इससे आसपास के किसानों को बेहद फायदा होगा। साथ ही जिस किसान के पास अनाज रखने की जगह नहीं होगी। वह इन गोदामों में अपने अनाज को रख सकेंगे। साथ ही उगाई गई सब्जियां भी नजदीकी कोल्ड स्टोर में रखकर सही समय पर सही दाम आने पर बेच सकेंगे। 
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Related News

Recommended News

static