चुनाव होने तक मैं बरोदा का विधायक : सीएम

7/11/2020 11:43:19 AM

सोनीपत : बरोदा उपचुनाव को लेकर विपक्षी लंबी-चौड़ी बात कर रहे है, लेकिन उनको यह  नहीं पता कि 16 साल तक बरोदा में कांग्रेस के विधायक रहे, विकास के नाम पर कुछ नहीं हुआ। हमने जितनी भी घोषणाएं की थी, उनको लागू भी किया जा चुका है। जब तक बरोदा में चुनाव नहीं हो जाते, तब तक मैं वहां का विधायक हूं। विकास की गति को कम नहीं होने होने दिया जाएगा।

यह बातें मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद सिंह हुड्डा की बरोदा उपचुनाव में उतरने की चुनौती के सवाल पर उन्होने कहा कि इस तरह की चुनौती का कोई औचित्य नही है। अगर मैं वहां से जीत जाऊं तो डबल मुख्यमंत्री थोड़े ही बन जाऊंगा। जींद उपचुनाव में भी कांग्रेस ने अपने राष्ट्रीय नेता को मैदान में उतारा था, जिसकी करारी हार हुई। अब बरोदा में भी अपने किसी बड़े नेता को चुनाव में उतार कर देख ले, उसे भाजपा को सामान्य कार्यकर्ता हराने में सक्षम है। 

कांग्रेस के शैडो मंत्रिमंडल के सवाल पर कहा कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा पहले अपने विधायकों को एकत्रित तो कर लें। कोई तो रात को सपने देखता है, कांग्रेसी दिन में देख रहे है। उनके सपने कभा पूरे नहीं होंगे। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कहा कि जिनके घर शीशे के हों, उनको दूसरे के घरों में पत्थर नहीं फैंकने चाहिए।  भूपेंद्र सिंह हुड्डा का नाम लिए बिना कहा कि भ्रष्टाचार के मामले चल रहे है, जिनकी मैच्योरिटी का समय नजदीक है और उनके परिणाम ठीक नहीं रहने वाले है। 

नेता प्रतिपक्ष ने पिछले दिनों भाजपा सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि जनता पांच-सी से घिरी हुई है, जिसमें कोरोना, चीन, करप्शन, क्राइम व कास्टिज्म है, के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पांचों-सी छठे सी य़ानि कांग्रेस में समाहित होते है। छह नहीं बल्कि सातवां सी कैप्चरिंग भी है, जो कांग्रेस की संस्कृति रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के दौरान भ्रष्टाचार व घोटालों के कई मामले उजागर किए है, लेकिन कांग्रेस ने ऐसा एक भी मामला नहीं खोला। भ्रष्टाचार पूरी तरह से तो खत्म नहीं हुआ है, सरकार इस दिशा में काम कर रही है।  कांग्रेस आलाकमान पर चुटकी लेते हुए कहा कि सोच देशहित में नहीं है। ऐसे नेतृत्व से छुटकारा पाकर गंगा में हाथ धोकर अन्य संगठन का विकल्प नेताओं को तलाश लेना चाहिए ताकि बेहतर सामाजिक व राजनीतिक जीवन बना सके। 
 


Edited By

Manisha rana

Related News