जुनैद मौत मामला: थाना प्रभारी सहित 12 पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज

2021-06-13T22:44:27.26

फरीदाबाद (अनिल कुमार): जुनैद मौत मामले में फरीदाबाद साइबर थाना प्रभारी बसंत कुमार सहित 12 पुलिसकर्मियों के खिलाफ 302, 342, 34 IPC की धाराओं में हत्या का मामला दर्ज हुआ है। परिवार वालों ने पुलिस कप्तान का धन्यवाद किया है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है दोषी पुलिसकर्मी जल्द गिरफ्तार होंगे।

ये मामला मेवात के जमालगढ़ का है। जहां जुनैद नाम के शख्स को फरीदाबाद पुलिस ने एक मामले में गिरफ्तार किया था, लेकिन इस बीच उसकी मौत हो गई। परिजनों ने फरीदाबाद पुलिस पर पिटाई करने का आरोप लगाया है।  पुलिस ने करीब 12 दिन पहले उस समय उठाया था, जब वह अपने दोस्तों के साथ बारात से वापस अपने गांव लौट रहा था। इसके साथ ही पुलिस ने गांव के पांच अन्य युवकों को भी उठाया था। 

case filed for setting fire to gypsy and pelting stones

क्राइम सेल फरीदाबाद पुलिस पर युवकों को उठाकर ले जाने के साथ ही बेरहमी से मारपीट करने के अलावा छोड़ने की एवज में मोटी रकम लेने के आरोप लगे हैं। मृतक जुनैद से भी छोड़ने के एवज में 70 हजार लिए गए थे। पीड़ित परिवार का आरोप है कि उनके पास क्राइम सेल फरीदाबाद के एसआई राजेश कुमार से बातचीत के भी सबूत हैं। जिसमें वह खुलेआम रिश्वत मांग रहा है। इतना ही नहीं उसने रुपए नहीं देने की सूरत में नाजायज मुकदमों में फंसाने की धमकी भी दी है। 

मृतक के रिश्तेदार मोहम्मद इशाक ने बताया गत एक जून को इरशाद व आजाद जो मृतक के सगे भाई हैं, उनको भी पुलिस उठाकर ले गई है, जो अभी तक भी फरीदाबाद पुलिस की हिरासत में हैं। मोहम्मद इशाक ने बताया कि न केवल मरने वाला जुनैद बेगुनाह है, बल्कि अभी भी पुलिस हिरासत में उसके दो भाई इरशाद व आजाद बंद है। खास बात यह है कि मृतक जुनैद को उसका भाई आजाद ही 70 हजार की रिश्वत देकर फरीदाबाद से छुड़ाकर लाया था। अगर आजाद आरोपी था, तो पुलिस ने उसे उसी समय क्यों नहीं दबोचा, उसे और उसके भाई इरशाद को पुलिस ने बाद में हिरासत में लिया। 

PunjabKesari, haryana

जुनैद का शव रखकर लगाया जाम, पुलिस जिप्सी में लगाई आग
बीते कल पुन्हाना होडल मार्ग पर परिजनों ने जुनैद का शव रखकर जाम लगाया था। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने पुन्हाना सिटी चौकी पुलिस की जीप को आग के हवाले कर जमकर पथराव किया। जिस पर पुलिस ने सरकारी काम में बाधा डालने, पुलिस पर हमला करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने सहित विभिन्न आरोपों सहित 58 नामजद व लगभग डेढ़ सौ अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने 8 लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है। जिन्हें अदालत में पेश किया गया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Recommended News

static