प्रदेश में प्लाईवुड उद्योग को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री ने की बड़ी घोषणा

punjabkesari.in Sunday, May 15, 2022 - 03:42 PM (IST)

यमुनानगर(सुरेंद्र): हरियाणा में प्लाईवुड उद्योग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश का पहला फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट यमुनानगर में बनाया जाएगा।  यह घोषणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज यमुनानगर की नई अनाज मंडी में हुई हरियाणा प्रगति रैली को संबोधित करते हुए की। इससे पूर्व उन्होंने लगभग 334 करोड़ रुपये की लागत वाली विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास भी किया। 

मुखयमंत्री के अनुसार, फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट बनाने में करीब 50 करोड़ रूपए की लागत आएगी। इसी के साथ सीएम ने सढौरा के 10 बेड के अस्पताल को 50 बेड तक अपग्रेड करने की भी घोषणा की। इसके अलावा, उन्होंने किशनपुरा गांव में 14 एकड़ जमीन पर नया कॉलेज भवन बनाने, फारुखपुर स्कूल को मॉडल संस्कृति स्कूल बनाने और यमुनानगर जिले के सभी चार विधानसभा क्षेत्रों के लिए 680 करोड़ रुपये से होने वाले विभिन्न विकास कार्यों की घोषणा की। 

भ्रष्टाचार का काल, मनोहर लाल- मुख्यमंत्री

भ्रष्टाचार को लेकर सीएम ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए हर संभव कदम उठा रही है और भ्रष्टाचार करने वाला चाहे कोई नेता हो, अधिकारी हो, कर्मचारी हो या गलत काम के जरिए भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का काम करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा, क्योंकि हरियाणा में भ्रष्टाचार का काल है मनोहर लाल। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों की आदत थी कि वें भ्रष्टाचार में संलिप्त पाए जाने वाले व्यक्तियों पर कोई कार्यवाही नहीं करते थे और आज वें कहते हैं कि हरियाणा में भ्रष्टाचार बढ़ा है, जबकि हमने स्वयं ही भ्रष्टाचार करने वालों को पकड़ा है। भ्रष्टाचार खत्म करने का हमारा एकमात्र संकल्प है। 

जिले में औद्योगिक क्लस्टर बनने से नौजवानों को मिलेगा रोजगार

मनोहर लाल ने कहा कि व्यापार को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा हर ब्लाक में 50 से 100 एकड़ में एक औद्योगिक क्लस्टर बनाने की योजना है, ताकि नौजवानों को रोजगार के अवसर मिले। यमुनानगर के पांचो खंडों में पांच क्लस्टर बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पिछले 7 सालों में राज्य सरकार ने सभी क्षेत्रों में बिना भेदभाव के समान रूप से विकास कार्य करवाए हैं। पिछले 3 साल में जिला यमुनानगर में लगभग 1087 करोड रुपये के विकास कार्य करवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सडक़ों का जाल बिछा है। 17 नेशनल हाईवे मंजूर हुए थे, जिसमें 6 पूरे हो चुके हैं और 11 पर काम चल रहा है। यमुनानगर से पेहवा तक बनने वाले नेशनल हाईवे का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। इसी प्रकार करनाल से यमुनानगर रेलवे लाईन भी मंजूर हो चुकी है। इसका सर्वे किया जा रहा है और जल्द ही लोगों को इसका लाभ मिलेगा। 

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static