पायलट प्रोजेक्ट में शहरों और वार्डों को लेने की योजना पर आगे बढ़ सकता है विभाग: कमल गुप्ता

punjabkesari.in Wednesday, Jan 05, 2022 - 07:15 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : हरियाणा के निकाय मंत्री कमल गुप्ता ने कहा कि पूरे देश में स्वच्छता के मामले में इंदौर नंबर वन है। इसलिए हमारी एक गठित कमेटी को इंदौर भेजने की योजना बनाई जा रही है जोकि  कारणों का पता लगाएगी कि आखिर वह नंबर वन पर कैसे हैं। इस टूर के बाद कमेटी के आकलन को प्रदेश की धरती पर उतारते हुए यहां सुधार किए जाएंगे ताकि हरियाणा भी इंदौर की तरह स्वच्छता के मामले में अपना स्थान बना सके। हम कुछ शहरों को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में भी लेने की योजना पर आगे बढ़ सकते हैं।

इसके साथ-साथ हम लास्ट कोने तक स्वच्छ हरियाणा की तरफ कदम बढ़ाते हुए 1-1 वार्ड को भी पायलट प्रोजेक्ट में लेने पर विचार कर रहे हैं। स्वच्छ हरियाणा-स्वस्थ हरियाणा की दिशा में काम करते हुए आगे बढ़ा जाएगा। इस मौके पर गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को स्वच्छ बनाने की नीति पर लगातार काम कर रहे हैं। केंद्र सरकार द्वारा अरबों रुपए का बजट सुलभ शौचालय पर खर्च किया गया। जिसका काफी लाभ भी लोगों को मिला है। अब सुलभ शौचालय में जो रिपेयर की कंडीशन वाले शौचालयों को रिपेयर करने का काम किया जाएगा। स्वच्छता हमारा मुख्य अभियान रहेगा। हम इस दिशा में लगातार आगे बढ़ते रहेंगे।

गुप्ता ने कहा की तीसरी लहर के आगमन की खबर बेहद चिंतित कर देने वाली है। उचित दूरी - मास्क और सैनिटाइजर के इस्तेमाल की गाइडलाइन जारी की जा चुकी है। लेकिन हमारे सफाई कर्मचारी मुख्य रूप से फ्रंटलाइन वर्कर हैं। वह स्वस्थ रहें। जिसके लिए उन्हें बूस्टर डोज प्राथमिकता के आधार पर दी जाएगी। गुप्ता ने बताया कि हरियाणा प्रदेश में 290 लाख लोगों में से 188 लाख लोग 18 वर्ष से ऊपर की उम्र की श्रेणी में है। 2 डोज के अनुसार इस आबादी को 370 लाख टीके लगने थे। जोकि प्रदेश 353 लाख टीके लगा चुका है। हम टारगेट से थोड़ा ही दूर हैं।

प्रदेश को सुरक्षित करने के लिए प्रदेश सरकार लगातार वैक्सीनेशन को प्राथमिकता के आधार पर ले रही है। सफाई कर्मचारियों को प्राथमिकता के आधार पर टीके लगाए जाएंगे। साथ ही हमारे चिकित्सक, पुलिस, मेडिकल स्टाफ, पैरामेडिकल स्टाफ सभी फ्रंटलाइन वर्कर हैं और प्रदेश सरकार इन्हें सबसे पहले बूस्टर डोज देगी। इस मौके पर 15 से 18 वर्ष के बच्चों को टीका लगाने बारे भ्रामक प्रचार करने वाले लोगों से भी गुप्ता ने अपील की है कि इस प्रकार की सोच रखने वाले लोगों को अपने विचार बदलने चाहिए। इस गंभीर मसले पर ऐसा प्रचार बड़े नुकसान का कारण बन सकता है। इस प्रकार की भ्रांति फैलाकर वह जनता को भारी नुकसान की तरफ धकेलने का प्रयास कर रहे हैं।

बेहद नरम और धार्मिक विचारों वाले प्रदेश के नवनियुक्त हरियाणा शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता अपने काम के प्रति बेहद जागरूक और विभाग में लापरवाह-भ्रष्ट अधिकारी- कर्मचारियों के लिए बेहद सख्त हैं। मंत्री पद संभालने के तुरंत बाद पंचकूला नगर निगम में अकस्मात चेकिंग करने पहुंचे और गैरहाजिर मिले कर्मचारियों पर लिए सख्त एक्शन के बाद यह साफ हो गया है। इस विभाग का कार्यभार इनसे पहले प्रदेश के गृह -स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के पास था और उनकी सख्त कार्यशैली किसी से छुपी नहीं। समय-समय पर नगर निगमों में अचानक छापेमारी कर लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही से प्रदेश के अधिकारी- कर्मचारी सकते में रहते थे।

विभाग के फेरबदल से कर्मचारी कहीं ना कहीं राहत की सांस लिए हुए थे।लेकिन डॉ कमल गुप्ता द्वारा कार्यभार संभालते ही अचानक नगर निगम पंचकूला में रेड के बाद अधिकारी-कर्मचारी यह तो समझ गए हैं कि मंत्री बेशक बदले हों, लेकिन जज्बा वही है। डॉ कमल गुप्ता का विभाग के प्रति आगामी रोड मैप क्या है ?किस प्रकार से विभाग में फैली कुरीतियों को दूर किया जाएगा ? इस पर चर्चा करते हुए उन्होंने बताया कि जिम्मेदारी संभालते ही प्रदेश के सभी अधिकारियों को बुलाकर बैठक करके गाइडलाइन दे दी गई है। मुख्यत समय पर आने, जनता के काम दिल-आत्मा से करने के साथ-साथ भ्रष्टाचार को खत्म करने के निर्देश दिए गए हैं। गुप्ता ने बताया कि यह बेहद चुनौतीपूर्ण विभाग है। लेकिन जीवन भी एक चुनौती है। जीवन भर रोजाना कोई ना कोई चुनौती सामने आएगी और चुनौती को स्वीकार करते हुए आगे बढ़ेंगे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static