नए सत्र का डेढ़ महीना बीत जाने के बावजूद बच्चों को नहीं मिली किताबें , पढ़ाई करवाने में आ रही दिक्कत

punjabkesari.in Saturday, May 14, 2022 - 01:53 PM (IST)

अंबाला (अमन):  एक तरफ हरियाणा सरकार सरकारी स्कूलों को हाईटेक बनाने का सपना देख रही है स्कूलों में डिजिटल बोर्ड लगाए जा रहे है बच्चों को टैबलेट बांटे जा रहे है तो वही दूसरी तरफ बच्चों को नए सत्र का डेढ़ महीना बीत जाने के बावजूद अभी तक सरकार की ओर से किताबें ही नहीं दी गई।

आलम यह है कि बच्चे फटी पुरानी किताबों से पढ़ने को मजबूर है । अंबाला के प्रेम नगर मॉडल संस्कृति स्कूल में जब हमारी टीम ने पड़ताल की तो पता चला कि 80 फीसदी बच्चों के पास पढ़ने के लिए किताबें ही नहीं है। पिछली क्लास के बच्चों की फटी पुरानी किताबों से काम चलाना पढ़ रहा है । प्राइमरी विंग की इंचार्ज ने बताया कि 2 सत्रों से स्कूलों में किताबें नही आई है दूसरी कक्षा के 35 में से मात्र 8 बच्चों को ही पुरानी किताबें उपलब्ध हो पाई है बिना किताबों के पढ़ाई करवाने में काफी दिक्कतें आ रही है।

 वहीं बच्चों के अभिभावकों का कहना है कि सरकार ने स्कूल तो बहुत अच्छे बना दिए है लेकिन बिना किताबों के पढ़ाई कैसे होगी बच्चे पढ़ाई में बहुत पीछे जा रहे है अभिभावकों ने सरकार से जल्द किताबें देने की मांग रखी है।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static