पूर्व सैनिकों की किसानों से अपील, ऐसा कोई कदम ना उठाएं जिससे प्रतिष्ठा और गरिमा को ठेस पहुंचे

1/18/2021 2:54:18 PM

अग्रोहा (हनुमान सुथार): पूर्व सैनिकों ने राज्यसभा सांसद जनरल डीपी वत्स के नेतृत्व में एक मीटिंग कर किसानों से गणतंत्र दिवस समारोह में व्यवधान ना डालने की अपील की। सांसद जनरल डीपी वत्स ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान-जय किसान का नारा दिया, जो विशाल कृषि प्रधान देश की सच्ची भावना है, देश का जवान यदि सीमा पर शत्रुओं से देश की रक्षा करता है, तो मेहनती किसान अपने खेतों में अन्न पैदा कर देशवासियों का पेट भरता है। 

देश में जब भी कोई विपत्ति आई तब अन्नदाता ने हर युद्ध में सशस्त्र सेनाओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर उनका साथ दिया और हमेशा देश की आन, बान, शान में चार चांद लगाए। आज भी देश अनेक चुनौतियां से जूझ रहा है। लद्दाख में तनाव, कोरोना महामारी व आर्थिक स्थिति ऐसे में हम सब देशवासियों का दायित्व है कि इस लड़ाई में एक साथ खड़े होकर भारतवर्ष को विश्व में सम्मानित पायदान पर लेकर जाएं। गणतंत्र दिवस समारोह राष्ट्रीय पर्व होता है व देश की प्रतिष्ठा और सम्मान से जुड़ा होने के साथ यह देश की सशस्त्र सेनाओं के लिए गौरव और गरिमा का अवसर है। 

वहीं जिला अध्यक्ष कैप्टन भूपिंदर सिंह ने बताया कि सभी पूर्व सैनिकों को यह सुनकर काफी पीडा़ हुई कि गणतंत्र दिवस परेड में किसान संगठन व्यवधान डालने की बात कर रहे हैं। लेकिन हमें पूर्ण विश्वास है कि सच्चे किसान की राष्ट्रीय पर्व के प्रति ऐसी सोच नहीं हो सकती। इसलिए सभी पूर्व सैनिकों ने एक सुर में किसानों से अपील की कि गणतंत्र दिवस समारोह में व्यवधान ना डालकर पारंपरिक वेशभूषा में दर्शक दीर्घा में बैठकर अपने सशस्त्र सेनाओं का मनोबल बढ़ाएं और भारत की प्रतिष्ठा मर्यादा और सम्मान में चार चांद लगा कर देश को गौरवान्वित करें। ऐसा कोई कदम ना उठाएं जिससे भारत की प्रतिष्ठा और गरिमा को ठेस पहुंचे।


vinod kumar

Related News